मिताली राज विवाद: कोच पोवार के समर्थन में उतरीं स्मृति और हरमनप्रीत, बोर्ड को ईमेल लिख कही बड़ी बात

नई दिल्ली: भारतीय महिला क्रिकेट टीम के कोच रमेश पोवार और क्रिकेटर मिताली राज के बीच चल रहे विवाद में नया ट्विस्ट आया है, टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर और उप कप्तान स्मृति मंधाना कोच पोवार के समर्थन में कूद पड़ी हैं. दोनों खिलाड़ियों ने सोमवार शाम प्रशासकों की समिति के चेयरमैन विनोद राय, डायना इडुलजी, बोर्ड सीईओ राहुल जौहरी, जीएम सबा करीम, कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना, अमिताभ चौधरी और अनिरुद्ध चौधरी को ईमेल लिखा है, जिसमे उन्होंने पोवार को टीम के कोच पद पर बनाए रखने की अपील की है.

हॉकी विश्वकप: भारतीय टीम ने कैसे रोका बेल्जियम को, कोच ने बताया सच

हरमनप्रीत और मंधाना ने ईमेल में स्पष्ट किया है कि मिताली को सेमीफाइनल में टीम से बाहर रखने का निर्णय सभी ने मिलकर लिया था. दोनों ने लिखा है कि मिताली को सेमीफाइनल के लिए टीम से बाहर किए जाने का निर्णय अकेले रमेश पोवार का नहीं था. इस फैसले में पोवार के साथ चयनकर्ता सुधा शाह और मैनेजर तृप्ति भट्टाचार्य शामिल भी थीं. यह निर्णय पूरी तरह से खेल के तर्कों और पूर्व में किए गए अवलोकन के आधार पर किया गया था.

कबड्डी से था हिटलर का नाता, किताब में हुआ जिक्र

हरमनप्रीत ने अपने ईमेल में यहां तक कहा है कि पोवार और मिताली को एक परिवार की तरह बैठकर अपने मतभेदों को सुलझाते हुए सुलह कर लेनी चाहिए. यही उन दोनों के भी और टीम के भी हित में रहेगा, हरमनप्रीत ने सभी अधिकारियों से अपील की है कि टी-20 टीम की कप्तान और वनडे टीम की उप कप्तान होने के नाते वे अपील करती हैं कि पोवार को टीम के कोच पद पर कायम रखा जाए. उन्होंने कहा कि यह ध्यान में रखना चाहिए कि ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप में मात्र 15 माह का समय बचा है. जिस तरह से पोवार ने टीम में बदलाव किए हैं, ऐसे समय में उनके अलावा अन्य कोई कोच पद पर ठीक बैठेगा.

स्पोर्ट्स अपडेट:-

स्पेनिश लीग में फिर टॉप पर पहुंचा बार्सिलोना

क्रिकेट से हटकर धोनी सीख रहे बेटी से डांस

भारत बनाम आॅस्ट्रेलिया: विराट कोहली के गेंद थामते ही फैन्स हुए रोमांचित

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -