अमेरिकी फौज को बाहर करने पर पछता रहा इराक, जानिए क्या है मामला

अमेरिकी फौज को बाहर करने पर पछता रहा इराक, जानिए क्या है मामला

अमेरिकी ने बीते दिनों हमला कर ईरानी टॉप कमांडर कासिम सुलेमानी को मार गिराया था. जिसके बाद ईरान और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ गया है. बता दे कि ईरानी टॉप कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत के बाद अमेरिकी फौज को बाहर जाने की बात कहने वाला इराक अब अपनी उस गलती पर पछताता दिखाई दे रहा है जो उसने 2014 में की थी.आपको बता दें कि इसी वर्ष इराक ने हावी होते दाइश को खत्‍म करने के लिए अमेरिकी फौज को अपनी जमीन सौंपी थी. इराक को कहीं न कहीं ये डर सताने लगा है कि कासिम की मौत उस पर भारी पड़ सकती है. 

2020 Census: अमेरिका का एलान, कहा- जल्द ही सिखों को मिलेगा...

इसके अलावा दूसरी बात ये भी है कि वह कहीं न कहीं ईरान से अब किसी भी सूरत से दो-दो हाथ करने की स्थिति में नहीं है. इसके लिए न तो उसकी आर्थिक हालत ही गवाही देती है और न ही उसकी सेना इतनी बड़ी और ताकतवर है कि वह ईरान का मुकाबला कर सके. इसकी एक सच्‍चाई ये भी है कि अपने को ईरान से युद्ध में उलझाकर वह अपने ही पांव पर कुल्‍हाड़ी मार लेगा. खाड़ी युद्ध में वह इसका परिणाम काफी करीब से देख चुका है. 

दिल दहला देगा इस जगह का इतिहास, हजारों लोगों पर मंडरा रहा है जान का खतरा

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि खाड़ी युद्ध के बाद और सद्दाम हुसैन को सत्‍ता से हटाने के बाद से ही देश के राजनीतिक हालात लगातार खराब हुए हैं. राजनीतिक अस्थिरता के अलावा यहां की जनता भी अब सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरने लगी है.सद्दाम की मौत के बाद ही इराक में आईएस जैसे आतंकी संगठन ने अपने पांव पसारे थे. वर्तमान में जो इराक की हालत है उसके पीछे कहीं न कहीं अमेरिका सीधेतौर जिम्‍मेदार दिखाई देता है. जनता का आक्रोश भी कहीं न कहीं इसी तरफ इशारा भी करता है. इसी वजह से इराक ने अमेरिकी फौज समेत सभी विदेशी जवानों को उसकी जमीन छोड़कर चले जाने को कहा था. लेकिन यहीं पर उसका दांव अमेरिकी धमकी के सामने बेबस भी हो गया.

डि रोसी ने की फुटबाल से संन्यास लेने की घोषणा, कहा- 'मुझे घर जाना...'

Good Newwz Box Office : महज़ 18 दिनों में 300 करोड़ के पार पहुंची अक्षय की गुड न्यूज़, वर्ल्डवाइड

मचा तहलकाभीषण हादसा: रासायनिक संयंत्र में हुआ भयंकर विस्फोट, वीडियो हुआ वायरल