मालोर्का टेनिस चैंपियनशिप में बॉतिस्ता अगुट से हारे मेदवेदेव

वर्ल्ड के नंबर एक खिलाड़ी दानिल मेदवेदेव मालोर्का टेनिस चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में रॉबर्टो बॉतिस्ता अगुट से सीधे सेटों में हारकर बाहर हो चुके है जिससे उनका इस सत्र में घसियाले कोर्ट पर खिताब जीतने का सपना अब पूरी तरह से टूट गया। वर्ल्ड में 20वीं रैंकिंग के बॉतिस्ता अगुट ने मेदवेदेव 6-3, 6-2 से मात दी है। 

बता दें कि रूस के खिलाड़ियों पर प्रतिबंध की वजह से मेदवेदेव विंबलडन में नहीं खेलने वाले है। स्पेन के बॉतिस्ता अगुट की वर्ल्ड में नंबर एक खिलाड़ी के विरुद्ध यह चौथी जीत है। उन्होंने पिछली 3 जीत नोवाक जोकोविच के विरुद्ध दर्ज की जा चुकी है। बॉतिस्ता अगुट सेमीफाइनल में 303वीं रैंकिंग के स्विस क्वालीफायर एंटोनी बेलियर से भिड़ने वाले है, जिन्होंने नीदरलैंड के टालोन ग्रिक्सपुर को 5-7, 7-6 (5), 6-2 से मात दी है।दूसरी वरीयता प्राप्त स्टेफानोस सिटसिपास ने एक अन्य मैच में अमेरिका के मार्कोस गिरोन को ढाई घंटे से अधिक वक़्त में 7-6 (5), 4-6, 6-3 से मात दी है। यूनान के इस खिलाड़ी का सामना अब फ्रांस के बेंजामिन बोन्जी के साथ होने वाला है, जिन्होंने जर्मनी के डेनियल अल्तमेयर को 6-3, 6-4 से मात दी है। 

बता दें कि इसके पहले ख़बरें थी कि पोलैंड के ह्यूबर्ट हरकाज ने रविवार को हाले ओपन टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में वर्ल्ड के नंबर एक रूसी खिलाड़ी कहे जाने वाले दानिल मेदवेदेव को 6-1, 6-4 से सीधे सेटों से करारी मात दे दी है। 64 मिनट तक चले खिताबी मुकाबले में हरकाज पूरी तरह मेदवेदेव पर भारी पड़े। नंबर एक खिलाड़ी की निरंतर यह दूसरी बड़ी हार है। 12 जून को उन्हें नीदरलैंड के टिम वान रिजतोवैन ने 6-4, 6-1 से मात दी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार वर्ल्ड के 12वें नंबर के खिलाड़ी हरकाज ने कॅरिअर का 5वां और ग्रास कोर्ट पर पहला खिताब अपने नाम कर लिया है। विंबल्डन से पहले ग्रास कोर्ट पर हरकाज का यह खिताब बहुत मायने रखता है। पिछली बार विंबल्डन में वह सेमीफाइनल तक पहुंचे चुके है।

 

चेतेश्वर पुजारा की गिल्लियां बिखेरकर उनके कंधे पर चढ़ गए मोहम्मद शमी, देखें मजेदार Video

जिस पाकिस्तानी अंपायर पर BCCI ने लगाया था बैन, वह आज बेच रहा जूते

क्या ज्योतिष के सहारे मैच जीतेगी भारतीय फुटबॉल टीम ? संघ ने खर्च किए 16 लाख

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -