मायावती ने सरकार को बताया कंगाल, मजदूरों से पैसा मांगने पर भड़की

शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में जोरशोर से चल रही बसों की राजनीति एक बार फिर गरमा गई. बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की राजस्थान सरकार पर लॉकडाउन में फंसे छात्रों को कोटा से यूपी बॉर्डर तक छोड़ने की एवज में यूपी सरकार से बसों का किराया मांगने पर नाराजगी व्यक्त की है. उन्होंने कहा कि राजस्थान की कांग्रेसी सरकार का यह कृत्य उनकी कंगाली और अमानवीयता को प्रदर्शित करता है. दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी राजनीति अति दुखद है.

आतंकवाद को लेकर पाक पर भड़का अमेरिका, दी ये चेतावनी

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि बीएसपी चीफ व यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट कर राजस्थान के कोटा से प्रतियोगी छात्र-छात्राओं को यूपी छोड़ने के लिए किराया वसूलने पर नाराजगी जताई है. उन्होंने कहा कि 'राजस्थान की कांग्रेसी सरकार द्वारा कोटा से करीब 12000 युवा-युवतियों को वापस उनके घर भेजने पर हुए खर्च के रूप में यूपी सरकार से 36.36 लाख रुपये और देने की जो मांग की है, वह उसकी कंगाली और अमानवीयता को प्रदर्शित करता है. दो पड़ोसी राज्यों के बीच ऐसी घिनौनी राजनीति अति दुखद है.' 

अमेरिका-ईरान की तनातनी में कूदा वेनेज़ुएला, दे डाली US को धमकी

इसके अलावा उन्होंने आगे लिखा कि 'कांग्रेस की राजस्थान सरकार एक तरफ कोटा से यूपी के छात्रों को अपनी कुछ बसों से वापस भेजने के लिए मनमाना किराया वसूल रही है तो दूसरी तरफ अब प्रवासी मजदूरों को यूपी में उनके घर भेजने के लिए बसों की बात करके जो राजनीतिक खेल खेल कर रही है.

सीएम के. चंद्रशेखर राव बोले, कोई मजदूर पैदल घर न जाए..

नेपाल द्वारा नक़्शे में बदलाव किए जाने पर भड़का भारत, कड़े शब्दों में दी नसीहत

अयोध्या: खुदाई में मूर्तियां निकलने पर बोले संजय राउत- 'ये समय राम मंदिर निर्माण का नहीं '

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -