नंदीग्राम में हार के बाद ममता ने लगाया गड़बड़ी का आरोप, HC के जज को बताया 'भाजपा सदस्य'

Jun 19 2021 03:16 PM
नंदीग्राम में हार के बाद ममता ने लगाया गड़बड़ी का आरोप, HC के जज को बताया 'भाजपा सदस्य'

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कलकत्ता उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल को एक पत्र लिखकर अपनी याचिका न्यायाधीश कौशिक चंदा के अतिरिक्त किसी दूसरी पीठ को सौंपने का आग्रह किया है। इस मामले की सुनवाई अगले हफ्ते गुरुवार (24 जून 2021) को होगी। दरअसल, सीएम ममता बनर्जी ने नंदीग्राम चुनाव नतीजों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए कलकत्ता उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की थी।

ममता ने शुक्रवार (18 जून 2021) को याचिका पर सुनवाई करने वाले न्यायाधीश पर सवाल खड़े करते हुए उन्हें भाजपा का सदस्य करार दिया था। सीएम ममता के वकील संजय बसु ने दावा किया कि, 'मेरी क्लाइंट को न्यायिक प्रणाली और न्यायालय पर काफी विश्वास है। हालाँकि, माननीय न्यायाधीश की तरफ से पूर्वाग्रह की आशंका है।' पत्र में उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि, 'याचिका पर सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति कौशिक चंदा भाजपा के सक्रिय सदस्य रह चुके हैं। ऐसे में चुनाव याचिका पर फैसले के सियासी निहितार्थ होंगे।

बसु ने कोर्ट से नंदीग्राम चुनाव मामले को चुनौती देने वाली ममता की याचिका को दूसरी पीठ को सौंपे जाने का आग्रह किया है। उन्होंने आगे कहा कि, 'अगर न्यायाधीश के समक्ष चुनाव याचिका पर सुनवाई होती है, तो मेरे क्लाइंट के मन में प्रतिवादी के पक्ष में और उसके खिलाफ न्यायाधीश की तरफ से पूर्वाग्रह की संभावना है।'

IMF ने रखा एक अंतरराष्ट्रीय कार्बन मूल्य स्तर स्थापित करने का प्रस्ताव

21 जून से देशभर में शुरू होगा 'जान है तो जहान है' अभियान..., मुख़्तार नकवी ने किया ऐलान

सीएम विजयन का आरोप- केरल कांग्रेस प्रमुख सुधाकरण ने रची थी मेरे बच्चों के अपहरण की साजिश