महाराष्ट्र: आखिर 'जनता कर्फ्यू' पर क्यों चुप हैं सीएम उद्धव ठाकरे?

महाराष्ट्र: आखिर 'जनता कर्फ्यू' पर क्यों चुप हैं सीएम उद्धव ठाकरे?
Share:

देश की जनता ने कोरोना वायरस को हराने के लिए अब कमर कस ली है. जनता द्वारा लगाए गए जनता कर्फ्यू का देशभर में असर भी देखने को मिल रहा है. हालांकि कुछ राजनीतिक पार्टियां इसपर भी अपनी राजनीति करने से नहीं चूक रही हैं. भारत में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है यहां अब तक कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 74 हो गई है. जबकि दो कोरोना पीड़ितों की मौत हो गई है. इसके बावजूद महाराष्ट्र के सीएम उद्दधव ठाकरे जनता कर्फ्यू का समर्थन करने की बजाय उसपर राजनीति कर रहे हैं. 

दूसरी और जहां NCP, कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों ने जनता कर्फ्यू का समर्थन किया हैं वहीं शिवसेना और उद्धव ठाकरे ने इसपर अब भी चुप्पी साध रखी है. महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे समेत शिवसेना के सभी बड़े नेता फिलहाल खामोश हैं. हालांकि महा विकास आघाड़ी में शामिल एनसीपी ने प्रधानमंत्री मोदी की जनता कर्फ्यू को समर्थन दिया है. महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री और NCP नेता राजेश टोपे ने जनता कर्फ्यू सफल बनाने की लोगों से अपील की है. 

जानकारी के लिए बात दें की इस बीच जनता कर्फ्यू को मुंबईकरों का जमकर समर्थन मिल रहा है. वहीं, रविवार को लोगों से खचाखच भरे रहने वाले अधिकतर इलाके खाली हैं. मरीन ड्राइव, शिवाजी पार्क, चर्चगेट और मुंबई के रेलवे स्टेशन समेत अन्य इलाके पूरी तरह से खाली नजर आ रहे हैं. 

26 विदेशी नागरिकों समेत 60 लोग पहुंचे हिमाचल

हिमाचल में सभी शिक्षकों के लिए निकाले यह आदेश

हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टाली 11वीं और 12वीं की परीक्षाएं

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -