पंचायत का फरमान : शिप्रा नदी गंदी करने पर 500 रुपए का जुर्माना देना होगा

Oct 02 2015 01:34 PM
पंचायत का फरमान : शिप्रा नदी गंदी करने पर 500 रुपए का जुर्माना देना होगा

इंदौर। मोदी के स्वस्छता अभियान का असर अब दिखने लगा है इंदौर के पास ही स्थित एक गांव जिसका नाम बूढीबरलाई है. यह गावं इंदौर से सिर्फ पंद्रह किलोमीटर की दुरी पर ही स्थित है. परन्तु आजकल इस गाव के चर्चे सभी और छाए हुए है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस गांव की पंचायत ने एक अभिनव पहल करने हुए गांव में अगर स्थानीय लोगो ने स्वच्छता का पालन नही किया तो उन्हें इसके लिए जुर्माना भरना पड़ेगा. बूढ़ीबरलाई गांव की पंचायत ने अपने एक निर्देश में कहा है की शिप्रा नदी के तीन किलोमीटर के तट के आसपास कोई खुले में शौच नही करेगा, व अगर कोई शख्स ऐसा करते दिखा तो उससे जुर्माने के रूप में 500 रूपये का जुर्माना वसूला जाएगा. गांव वालो का कहना है की पास ही स्थित एक टोल टैक्स के पास रोज शाम को ट्रक खड़े हो जाते है व इनके ड्राइवर वहां पर स्थित ढाबो पर रात को खाना खाते है व सुबह को शौच के लिए नदी के मुहाने पर आ जाते है. यह नदी में गंदगी फैलाते है. बता दे की नर्मदा-शिप्रा संगम के बाद से नदी में सालभर पानी रहता है. 

गावं वालो ने नदी की सुरक्षा के लिए गली-नुक्कड़ पर जुर्माने के होर्डिंग टांगे गए और ढाबे वालों को हिदायत देकर कहा कि यदि चालकों ने किनारों पर गंदगी फैलाई तो इसका हर्जाना उनसे वसूला जाएगा। तथा गांव वालो ने गांव में खुले में शौच में प्रतिबंध लगाया है. नदी के किनारो की रखवाली के पंचायत ने चौकीदार भी रखे हुए है जो की वहां पर देखरेख करते है. पंचायत की इस सख्ती का असर यह हुआ है की अब नदी के किनारे साफ़ रहने लगे है. इसके लिए पंचायत ने नदी के किनारो पर पांच सार्वजनिक शौचालय भी बनाए हैं तथा इसका कनेक्शन सेफ्टिक टैंक में किया गया है. गांव में अब घरो के एकत्रित कचरे को 20 रुपए के शुल्क द्वारा पंचायत के कर्मचारियों के द्वारा उठाया जा रहा है. कचरा उठने के लिए एक छोटा वाहन भी खरीदा है.