आज है गंगा सप्तमी, जरूर करें माँ गंगा की यह आरती

गंगा सप्तमी इस साल 8 मई को मनाई जा रही है। जी हाँ और आप सभी जानते ही होंगे गंगा को माँ का दर्जा दिया जाता है। इसी के साथ अनेक धर्मग्रंथों में गंगा नदी के महत्व का वर्णन देखने को मिलता है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं माँ गंगा की आरती, जो आपको आज के दिन जरूर करनी चाहिए।

 माँ गंगा की आरती- 
ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता।
जो नर तुमको ध्याता, मनवांछित फल पाता।


ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता।

चंद्र सी ज्योति तुम्हारी, जल निर्मल आता।
शरण पड़े जो तेरी, सो नर तर जाता।

ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता।
पुत्र सगर के तारे, सब जग को ज्ञाता।
कृपा दृष्टि हो तुम्हारी, त्रिभुवन सुख दाता।
ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता।
एक बार जो प्राणी, शरण तेरी आता।
यम की त्रास मिटाकर, परमगति पाता।
ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता।
आरति मातु तुम्हारी, जो नर नित गाता।
सेवक वही सहज में, मुक्ति को पाता।
ॐ जय गंगे माता, मैया जय गंगे माता।

8 मई को सिर पर रुद्राक्ष रख नहाते समय बोलें यह मंत्र, मिलेगा गंगा स्नान का फल

गंगी नदी में फिर बहकर आई लाशें, मचा हड़कंप

8 मई को है गंगा सप्तमी, इस उपाय को करते ही दूर हो जाएंगे जन्म-जन्मांतर के पाप

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -