गंगी नदी में फिर बहकर आई लाशें, मचा हड़कंप

बक्सर: बिहार के बक्सर जिले (Bihar Buxar) में गंगा नदी में अचानक कई शव प्राप्त होने से जिला प्रशासन में हंगामा मच गया। दरअसल बक्सर के रामरेखा घाट पर प्राप्त हुए 5 शवों ने प्रशासनिक अफसर को दंग कर दिया। ऐसे में बक्सर SDM धीरेंद्र मिश्रा ने रात में ही शवों की जांच करवाई। इसके साथ-साथ चिकित्सकों की 3 सदस्यीय टीम गठित कर शवों का घाट पर ही पोस्टमॉर्टम (Post-mortem) कर फिर से गंगा में प्रवाहित कर दिया गया।

वही इस मुद्दे पर डॉक्टर भूपेंद्र ने कहा कि ये सभी शव पुराने लगते हैं तथा डी-कंपोस्ट हो चुके हैं। ऐसे में जाँच में क्या आएगा, यह बोलना मुश्किल है। कुछ शवों को तो पहले से ही पोस्टमॉर्टम (Post-mortem) करके फेंका गया था। ऐसे में यह नहीं बोला जा सकता कि इनका किससे और किस तरह का संबंध है। वहीं SDM धीरेन्द्र मिश्रा ने बोला कि तहरीर प्राप्त होने के बाद शवों का पोस्टमॉर्टम कराया गया। ये शव कहां के हैं, कहां से बहकर यहां आए हैं, यह बोलना मुश्किल है। हो सकता है कि ये शव उत्तर प्रदेश की सीमा से आए हों।

हालांकि स्थानीय लोगों का कुछ और ही कहना है। रामरेखा घाट निवासी राहुल खरवार बताते हैं कि अभी भी शवों के प्राप्त होने का सिलसिला जारी है। बीते 15 दिनों से निरंतर उत्तर प्रदेश की ओर से चौसा होते हुए बक्सर तक लाशें आ रही हैं, जो हम लोगों के लिए दिक्कत बनी हुई हैं। जिला प्रशासन ने कुछ शवों को हटाया है, मगर अभी भी शव आ रहे हैं। ऐसे में गंगा में प्राप्त हो रहे शवों को लेकर कई बातें हो रही हैं। लगभग 1 वर्ष पहले कोरोना महामारी के समय बक्सर में प्राप्त हुए शवों की पूरे देश में खूब चर्चा हुई थी।

गर्मी से मिलने वाली है राहत, आंधी और गरज के साथ होंगी बौछारें

रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता भारत के दीर्घकालिक लाभ : राजनाथ सिंह

वैदिक मंत्रोच्चार के साथ खुले केदारनाथ धाम के कपाट, भक्त दर्शन से पहले जान ले ये जरुरी बातें

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -