नवरात्रि: इस मंत्र, पूजा विधि और वस्त्र-पुष्प से करें मां चंद्रघंटा को खुश

नवरात्रि (navratri) का पर्व चल रहा है और इस पर्व के दौरान माता दुर्गा के नौ रूपों का पूजन किया जाता है। ऐसे में आज नवरात्रि (navratri) का तीसरा दिन है और आज के दिन मां चंद्रघंटा (Maa Chandraghanta) का पूजन किया जाता है। अब हम आपको बताने जा रहे हैं मां चंद्रघंटा की पूजन विधि, शुभ मुहूर्त, भोग व शुभ रंग।

मां चंद्रघंटा का स्वरूप- आपको बता दें कि माता का तीसरा रूप मां चंद्रघंटा (Maa Chandraghanta) शेर पर सवार हैं। जी दरअसल दस हाथों में कमल और कमडंल के अलावा अस्त-शस्त्र हैं। वहीं माथे पर बना आधा चांद इनकी पहचान है और इस अर्ध चांद की वजह के इन्हें चंद्रघंटा कहा जाता है।

मंत्र- पिण्डजप्रवरारूढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता। प्रसादं तनुते मह्यं चंद्रघण्टेति विश्रुता।।

यहाँ गिरा था माता सती का बायां पैर, दूर-दूर से दर्शन करने आते हैं लोग

वस्त्र- मां (Maa Chandraghanta) चंद्रघंटा की पूजा में उपासक को सुनहरे या पीले रंग के वस्त्र पहनने चाहिए।

पुष्प- मां (Maa Chandraghanta) को सफेद कमल और पीले गुलाब की माला अर्पण करें।

भोग- मां (navratri) को केसर की खीर और दूध से बनी मिठाई का भोग लगाना चाहिए। इसी के साथ पंचामृत, चीनी व मिश्री भी मां को अर्पित करनी चाहिए।

क्या हिन्दू होना गुनाह है ? अब इस्लामी कट्टरपंथियों के निशाने पर आए क्रिकेटर लिटन दास

मां चंद्रघंटा की करें इन शुभ मुहूर्त-
ब्रह्म मुहूर्त- 04:36 AM से 05:24 AM।
विजय मुहूर्त- 02:11 PM से 02:59 PM
गोधूलि मुहूर्त- 05:59 PM से 06:23 PM
अमृत काल- 09:12 PM से 10:47 PM
रवि योग- 05:52 AM, सितम्बर 29 से 06:13 AM, सितम्बर 29

मां ब्रह्मचारिणी को करना है खुश तो ये रहे मंत्र, कवच और आरती

नवरात्रि का दूसरा दिन: 1000 साल तक माता ने खाए थे फल, 3000 साल तक सिर्फ बेलपत्र

नवरात्रि का दूसरा दिन: इस विधि से करने मां ब्रह्मचारिणी की पूजा और ये लगाए भोग

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -