कही आप भी तो नहीं सोते इस दिशा की तरफ पैर करके?

शास्‍त्रों में लिखी सारी कई बातें ऐसी होती है जो हमारी किस्मत बदल देती है यही नहीं बल्कि शास्‍त्रों के मुताबिक़ किये काम हमें हमेशा एक सही दिशा देता है. शास्त्रों में हमारे सोने के सही तरीको को भी बताया गया है कि सोने का सही तरीका क्या होना चाहिए? जी हां सोने का हर तरीका आपकी किस्मत से जुड़ा होता है.

शास्‍त्रों के मुताबिक व्यक्ति को कभी भी मुख्‍य दरवाजे की ओर पैर रखकर नहीं सोना चाहिए ऐसा करने से घर से बाहर जाने का संकेत होता है, इस दिशा में पैर करके सोने वाले व्यक्ति की उम्र कम होती है और स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहता है.

शास्‍त्रों में सोने की सबसे सही दिशा पूर्व व उत्‍तर दिशा बताया गया है. माना जाता है कि पूर्व दिशा की ओर सिर करके सोने से शरीर उर्जावान रहता है और व्यक्ति बीमार भी नहीं पड़ता है. यही नहीं बल्कि पूर्व व उत्‍तर दिशा को स्वर्ग में जाने का रास्ता भी बताया गया है. इस दिशा में सोने से व्यक्ति मा‍नसिक तनाव से दूर रहता है.

ध्यान रहे इस दिशा में सोने वाले व्‍यक्ति को सूर्योदय से पूर्व उठना चाहिए क्‍योंकि इसे सूर्य की दिशा भी माना जाता है और सूर्योदय के पूर्व न उठने से आपका पैर सूर्य की ओर होगा और ये सूर्य देवता का अपमान होगा जिससे आपके कई सारी मुसीबातों का सामना करना पड़ सकता है. 

ये भी पढ़े

इस समय बोली गई हर बात बदल सकती है आपकी किस्मत

क्या आप जानते है सड़क पर गिरे हुए पैसे मिलने का राज़?

लाभकारी स्वस्तिक उपाय

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -