राफेल विरोधी लॉबी के दबाव के कारण विमान सौदे का विरोध कर रहे हैं राहुल- कानून मंत्री

राफेल विरोधी लॉबी के दबाव के कारण विमान सौदे का विरोध कर रहे हैं राहुल- कानून मंत्री

नई दिल्ली: राफेल विमान सौदा मुद्दे पर कांग्रेस और भाजपा के बीच टकराव रुकता नहीं दिखाई दे रहा है. भाजपा ने एक मीडिया रिपोर्ट के हवाले से राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी द्वारा राफेल मामले को उछलना मात्र दिखावा है. भाजपा ने कहा है कि हकीकत में वे राफेल विरोधी लॅाबी के दबाव में कार्य कर रहे हैं. 

25 हजार रु हर माह सैलरी, रिसर्च सेंटर ने मांगे इन पदों के लिए आवेदन

केंद्रीय कानून मंत्री एवं भाजपा के दिगज नेता रविशंकर प्रसाद ने संसद भवन परिसर में मौजूद प्रेस वालों में कहा कि राफेल लड़ाकू विमान सौदे के संबंध में मीडिया में एक अहम् खबर सामने आई है और इससे साबित होता है कि क्यों राहुल गांधी और उनकी पार्टी राफेल विमान का इतना विरोध कर रहे हैं. उन्होंने सवाल किया, 'क्या राफेल का विरोध इस कारण हो रहा है क्योंकि उन पर यूरोफाइटर के लॉबिस्ट का दबाव था?' प्रसाद ने बोफोर्स, पनडुब्बी घोटाला और अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकाप्टर घोटाले का उल्लेख करते हुए कहा है कि कांग्रेस के वक़्त में ऐसा कोई भी रक्षा डील नहीं हुई जिसमें घोटाला न हुआ हो.

एशियन कप फुटबॉल टूर्नामेंट: भारत ने अपने पहले ही मैच में थाईलैंड को 4-1 से हराया

कानून मंत्री ने कहा है कि इसके बाद भी एक पुरानी राष्ट्रीय पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बार-बार झूठ बोलने में भिड़े हुए हैं. प्रसाद ने कहा है कि क्रिश्चन मिशेल और हस्के से सम्बंधित जो दस्तावेज प्राप्त हुए हैं, वे विस्फोटक हैं. वे यूरोफाइट के बिचौलिये के रूप में भी कार्य कर रहे थे. ऐसे लोग उस समय के पदाधिकारियों, प्रधानमंत्री, वित्त मंत्री और एक बहुचर्चित 'परिवार' को पहचानते हैं. उन्होंने सवाल किया है कि क्यों एक के बाद एक रक्षा दस्तावेजों में एक ही 'परिवार' का नाम सामने आता है.

खबरें और भी:-

जेट एयरवेज को जल्द मिल सकती एसबीआई से वित्तीय सहायता

उत्तराखंड में शुरू हुआ पतंजलि का पहला परिधान शोरूम

देश के वित्तीय और पूंजी बाजार को साइबर अटैक से बचाएगा यह सॉफ्टवेयर