ISI टेरर मॉड्यूल: कोई अकाउंटेंट, तो कोई ड्राई फ्रूट का कारोबारी..., जानिए कौन हैं देशभर से पकड़े गए 6 आतंकी

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को बड़े टेरर मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए 6 आतंकियों को गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल का कहना है कि त्योहारों का सीजन (दशहरा, नवरात्र, रामलीला) आतंकियों की हिट लिस्ट में था, जिसमें किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम दिया जाना था. गिरफ्तार किए गए आतंकियों में जीशान, ओसामा, आमिर जावेद, जान मोहम्मद, मूलचंद उर्फ लाला, अबू बकर शामिल हैं. इन्हे स्पेशल सेल ने दिल्ली सहित, यूपी के अलग-अलग जगहों पर छापा मारकर गिरफ्तार किया है. 

जीशान कमर:- 28 साल के जीशान को उत्तर प्रदेश से अरेस्ट किया गया है, जीशान ने एमबीए किया हुआ है और दुबई में अकाउंटेंट के रूप में म कर चुका है. फिर कोरोना संकट के दौरान लॉकडाउन में वह घर आया था. यहां वह अब खजूर का कारोबार कर रहा था.

ओसामा:- दिल्ली से धराया 22 वर्षीय ओसामा का परिवार ड्राई फ्रूट का कारोबार करता है. इस कारण ओसामा कई बार कारोबार के सिलसिले में मिडिल ईस्ट के देशों में आता-जाता रहा है. आरोप है कि आतंकी ट्रेनिंग के लिए वह पहले मस्कट गया और फिर समुद्र के रास्ते पाकिस्तान पहुंचा.

आमिर जावेद:- 31 साल का आमिर यूपी के लखनऊ से पकड़ा गया. आमिर, जीशान का रिश्तेदार है. आमिर सऊदी अरब के जेद्दा में कई साल नौकरी कर चुका है. वह मजहबी तालीम भी देता था. आमिर जावेद के पिता और भाई को अब भी यकीन नहीं है कि उनके बेटे का कोई अंडरवर्ल्ड या आतंकी ताल्लुक है. ढाई वर्ष पूर्व आमिर का निकाह हुआ था. घरवालों का कहना है कि बेटा तो अपने काम से काम रखता था. सुबह काम पर जाता और शाम को सीधा घर लौटता था.

जान मोहम्मद:-  47 वर्षीय जान मोहम्मद पेशे से एक ड्राइवर है. जान मोहम्मद शेख उर्फ़ ‘समीर’ को वर्ष 2001 में असॉल्ट के एक मामले में अरेस्ट किया जा चुका है. जान मोहम्मद का परिवार मध्य मुंबई के सायन में रहता है. वो कई सालों से यहां रह रहा है और लगभग एक दशक पूर्व उसके माता-पिता की मृत्यु हो चुकी है.

मूलचंद उर्फ़ लाला:- 47 साल के मूलचंद उर्फ लाला के तार अंडरवर्ल्ड से जुड़े हुए हैं, लाला डी-कंपनी के भी संपर्क में था. भारत में वह किसानी करता था.

अबू बकर:- 23 साल का अबू बहराइच का निवासी है. पहले यह जेद्दा में नौकरी करता था फिर कुछ साल पहले वापस आ गया था. वर्ष 2013 में उसने देवबंद में मदरसे में तालीम ली थी. बहराइच के कैसरगंज इलाके में अबू बकर अपने भाई मोहम्मद उमर के साथ रहता था. इनके पिता सुन्ना खान सऊदी के जेद्दा शहर में बीते कई वर्षों से रह रहे हैं. मोहम्मद उमर ने अपने भाई को निर्दोष बताया है. अबू बकर विवाहित है और उसकी एक बच्ची भी है.

बता दें कि, दिल्ली की एक कोर्ट ने इन 6 आतंकियों में से 4 को 14 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है, वहीं 2 अन्य आतंकियों को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा. पुलिस ने उन दो आतंकियों की भी रिमांड मिलने की संभावना जताई है.

मैदान में घुसे डॉग को मिला ICC अवॉर्ड

इस तरह बचे फाइनेंशियल फ्रॉड का शिकार होने से...

नेशनल लेवल खो-खो प्लेयर की दुष्कर्म के बाद हत्या, दांत भी गायब... आरोपित शहजाद गिरफ्तार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -