जिहाद और आतंकवाद हैं एक नदी के दो किनारे

मुंबई : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने भाजपा नेतृत्व वाली सरकार पर निशाना साधा है। राकांपा के वरिष्ठ नेता तारिक अनवर ने कहा कि भाजपा नेतृत्व वाली सरकार आतंकवाद और जिहाद को एक ही मान रही है लेकिन ये उस तरह हैं जिस तरह से एक नदी के दो किनारे होते हैं। ये दोनों ही बेहद अलग हैं। जिनका मेल कभी भी नहीं हो सकता है। दरअसल वे अखिल भारतीय कौमी तंजीम द्वारा आयोजित जिहाद अगेन्स्ट टेररिज़म विष्य पर उपस्थितों को संबोधित कर रहे थे।

सरकार नीति के अंतर्गत किसी हिंदू के हिंसक कार्य को गुंडागिरी बताती है, तो दूसरी ओर एक मुस्लिम के कार्य को आतंकी घटना कह देती है। यह एक प्रकार का खतरनाक चलन है। तारिक अनवर ने आरोप लगाया कि शिक्षित युवाओं को गलत तरह से फंसाया जा रहा है। उन्हें आतंकवादी बताया जा रहा है। सबका साथ सबका विकास के तहत इसके सही मायने वास्तव में रखे जाने चाहिए।

अखिल भारतीय मराठी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष श्रीपाल सबनीस ने कहा कि राजनीतिक हित साधने हेतु कुछ लोगों के बीच गलतफहमियां पैदा की जाती हैं। लोग नफरत फैला रहे हैं। उन्हें इस तरह की बातें करने से बाज आना चाहिए। उन्होंने जिहाद का अर्थ बताया कि व्यक्ति अपनी इंद्रियों को नियंत्रित करे। आत्म संयक करे और अपने हृदय को पवित्र बनाए। 

जिहाद का अर्थ आतंकवाद के लिए लोगों को प्रेरित करना नहीं है। इस कार्यक्रम में आर्य समाज की ओर से स्वामी अग्निवेश भी पहुंचे। उन्होंने कहा कि अखंड भारत के बारे में बात करने वाले लोगों को भी वे सुनना चाहते हैं। स्वामी अग्निवेश ने कहा कि जो लोग स्वाधीनता संग्राम में आर्य समाज के योगदान पर सवाल उठाते हैं उन्हें आर्य समाज को जानना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि जिहाद करना ही है तो शराब के सेवन, नशीले पदार्थों के सेवन, शिशुओं की हत्या के विरूद्ध होना चाहिए। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -