दोहरे हत्याकांड से दहला अलीगढ़, ज्वैलर्स की पत्नी और बेटे की चाकू से गोदकर हत्या

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में क्वार्सी थाना क्षेत्र के सुरेंद्र नगर में गुरुवार शाम सर्राफा कारोबारी ललित वर्मा की पत्नी शिखा और उनके आठ वर्षीय पुत्र की चाकू से गोदकर हत्या किए जाने का मामला सामने आया है। घटना के वक़्त शिखा वर्मा और बेटा गिरवांशु घर पर अकेले ही थे। बताया जा रहा है कि हत्यारे बेरहमी से हत्या कर पैदल आराम से मौके से निकल गए, किसी को इसकी भनक तक नहीं लगी। पीड़ित ललित वर्मा ने अपनी छोटी साली के साथ जारी विवाद में हत्या का अंदेशा जाहिर करते हुए उसके और साली के होने वाले पति के खिलाफ थाने में शिकायत दी गई है।  

ललित का कहना है कि उसकी पत्नी को उसके पिता के फंड के 45 लाख रुपये के लिए हत्या की गई है। शिखा के पिता एक सरकारी कर्मचारी थे और उनकी तीन पुत्रियां थी। ड्यूटी के दौरान उनकी मौत हो गई थी। तीन बेटियां होने के कारण किसी एक को सरकारी नौकरी मिलनी थी। साथ ही उनके फंड के  45 लाख रुपये भी तीनों बहनों को मिलने वाले थे। परिवार में यह सलाह बनीं कि दो बहनें 45 लाख रुपये आपस में बाँट लेंगी। एक बहन पिता की जगह सरकारी नौकरी लेगी। मगर शिखा की सबसे छोटी बहन अंजली को ये स्वीकार नहीं था। उसे सरकारी नौकरी और 45 लाख रुपये दोनों ही चाहिए थे। 

तीनों बहनों के बीच फंड के बंटवारे और सरकारी नौकरी से संबंधित मामला अदालत में चला गया था। ललित को आशंका है कि इन्हीं सब विवादों के कारण शिखा और उसके बेटे की हत्या हुई है। अंजली और उसके होने वाले पति सोमेश चौहान के खिलाफ पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। SSP कलानिधि नैथानी ने बताया है कि ललित ने शिखा की सगी बहन अंजली और उसके होने वाले पति सोमेश से विवाद होना बताया है। SSP ने बताया कि उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इस मामले की गंभीरता से जांच कराई जा रही है। जल्द ही हत्यारों को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया जाएगा। 

वन विभाग के रेंजर के यहां पड़ी रेड, मिली नोटों की इतनी गड्डियां कि अधिकारी भी हो गए हैरान

'25 हजार ही चाहिए, टेंशन मत लीजिए CCTV तो सिर्फ डराने के लिए हैं', बोलकर BDO ने ले ली रिश्वत

सामूहिक बलात्कार के आरोपी को असम पुलिस ने मारी गोली, कर रहा था भागने की कोशिश

 

Most Popular

- Sponsored Advert -