रमजान या मतदान, इस बहस पर जावेद अख्तर का बड़ा बयान

रमजान या मतदान, इस बहस पर जावेद अख्तर का बड़ा बयान

नई दिल्ली: जाने-माने लेखक और गीतकार जावेद अख्तर ने पाक रमजान के दौरान लोकसभा चुनाव की तरीकों को लेकर छिड़ी बहस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए इसे बेतुका करार दिया है। आम आदमी पार्टी (आप) के ओखला से विधायक और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के नेताओं और कई अन्य इमामों ने रमजान के दौरान लोकसभा का चुनाव कराए जाने को लेकर सवाल उठाए थे।

अमेरिका ने दी हिदायत, वेनेज़ुएला से तेल न खरीदे भारत

आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेता एवं हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने रमजान के दौरान मतदान कराए जाने का बचाव करते हुए कहा था कि इस दौरान मुसलामानों द्वारा अन्य काम भी किए जाते हैं। अब जावेद अख्तर ने अपने आधिकारिक ट्विटर पर लिखा है कि,''मैं रमजान और मतदान को लेकर हो रही बहस से बिल्कुल इत्तेफाक नहीं रखता हूं और मेरा मानना है कि यह पूरी बहस बेतुकी है।

आतंकियों ने रोकी यात्री बस, 13 यात्रियों का किया अपहरण

उन्होंने कहा है कि यह बहस धर्मनिरपेक्षता का विकृत और पेचीदा रूप है जो मेरे हिसाब से बेतुका, वीभत्स और असहनीय है। निर्वाचन आयोग को इस पर जरा भी विचार नहीं करना चाहिए। आपको बता दें कि रमजान के दौरान चुनाव की तारीखों को लेकर खड़े किए जा रहे सवालों पर निर्वाचन आयोग ने सोमवार को साफ़ किया था कि शुक्रवार और त्योहारों के दिन मतदान की तारीखें नहीं हैं।

खबरें और भी:-

 

महासचिव बनने के बाद पहली बार बोली प्रियंका, कहा - हर जगह फैलाई जा रही नफरत

लोकसभा चुनाव 2019 : टीएमसी ने किया उम्मीदवारों के नामों का एलान, इन्हे मिला मौका

लोकसभा चुनाव: बिहार महगठबन्धन पर भी मंडराया खतरा, राजद ने कांग्रेस को दिया अल्टीमेटम