फांसी पर चढ़ने से पहले जयदेव कपूर को अपने जूते सौंप गए थे भगत सिंह

नई दिल्ली। 19 सितंबर को भारत के महान स्वतंत्रता सैनानियों में से एक जयदेव कपूर की 24 वी पुण्यतिथि है। हमारी नयी पीढ़ी आज इस  स्वतंत्रता सैनानी को लगभग भुला ही चुकी है लेकिन एक वक्त पर जयदेव कपूर भारत के लिए सूली पर  चढ़ने वाले सरदार भगत सिंह के बेहद अच्छे दोस्त थे। इन दोनों की दोस्ती इतनी  गहरी थी कि भगत सिंह ने सूली पर चढ़ने से पहले अपने जूते और घड़ी तक जयदेव कपूर को सौंप दी थी। 

सुर्खियां: ये है देश और दुनिया की अब तक की सबसे बड़ी ख़बरें

जयदेव कपूर का जन्म 1908 में हुआ था। संयोग से उनके जनदिन के  दिन ही दिवाली का त्यौहार भी था। जयदेव कपूर हरदोई के शाहाबाद के रहने वाले थे और बचपन से ही  अंग्रेजों के खिलाफ उनका नज़रिया सख्त ही रहता था। वे कानपूर के डीएवी कॉलेज में पढाई के दौरान ही क्रांतिकारी गतिविधियों में शामिल ही गए थे। 

बीच डेस्टिनेशन वेडिंग के लिए बेस्ट है यह लहंगे

इसी  कॉलेज में उनकी मुलाकात सरदार  भगत सिंह से हुई थी। यहाँ से इन दोनों की दोस्ती गहराती ही गई। बाद में भगत सिंह ने उन्हें चंद्रशेखर आजाद से मिलवाया था। देश को लेकर जयदेव कपूर के विचारों को सुन कर  चंद्रशेखर आज़ाद भी बेहद प्रभावित हुए थे। भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त द्वारा नेशनल  असेंबली में फेके जाने वाले बम का इंतजाम भी उन्ही ने किया था। 


ख़बरें और भी 

भारत की 52 कंपनियां कहलाएंगी 'सुपरब्रांड', 20 सितम्बर को दिया जाएगा अवार्ड

सुर्खियां: ये है देश और दुनिया की अब तक की सबसे बड़ी ख़बरें

एयर एशिया का सुपर सेल ऑफर, मात्र 500 रूपये में लीजिए हवाई सफर का आनंद

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -