आतंकियों की कमी के चलते, ISI ने निकाली नई भर्ती

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में सेना द्वारा आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑल आउट ऑपरेशन ने आतंकियों की कमर तोड़ दी है, आलम यह है कि आतंकी संगठनों के पास आतंकियों की संख्या घटने लगी है,  इस कमी को पूरा करने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने कश्मीर में आतंकवादियों की भर्ती के लिए टेरर टैलेंट हंट प्रोग्राम चलाया है.

कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ भारतीय सेना का ऑपरेशन ऑलआउट दिन दूनी-रात चौगुनी रफ्तार से जारी है. इसी कारण से आतंकवादी संगठनों और उनके आकाओं के दिन का चैन और रात की नींद उड़ी हुई है. इस साल अब तक सेना ने 59 आतंकवादियों को मौत के घाट उतर दिया है. इससे पहले रक्षा विशेषज्ञ पी.के सहगल ने ऑपरेशन ऑलआउट के फेज टू में 14 आतंकियों की लिस्ट जारी की थी, जिसमे से 2 आतंकियों को ढेर कर दिया गया है.

आतंकियों की कमी के चलते पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी और आतंक का सरगना हाफ़िज़ सईद मिलकर युवाओं को बरगलाने में लगे हैं, ताकि उन्हें बहला-फुसला कर जिहाद की राह में आगे बढ़ाया जाए. आपको बता दें कि कश्मीर में सक्रिय पाकिस्तान परस्त आतंकवादी संगठनों की लिस्ट में नंबर वन पर लश्कर ए तैयबा और नंबर दो पर हिज्बुल मुजाहिदीन का नाम आता है. भारतीय सेना के ऑपरेशन ऑलआउट में दोनों ही आतंकवादी संगठनों की हालत खराब हो चुकी है. इसलिए ISI ने हिज्बुल मुजाहिदीन को भी अंडरटेक कर लिया है.

जम्मू कश्मीर: मुठभेड़ में 3 आतंकी ढेर, 3 जवान भी घायल

जम्मू कश्मीर में मुठभेड़ जारी, सेना ने आतंकियों को घेरा

पीडीपी विधायक के घर पेट्रोल बम से हमला

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -