IPL-8 : सरकार और आयोजकों को मिला नोटिस

Apr 06 2015 04:45 PM
IPL-8 : सरकार और आयोजकों को मिला नोटिस
कलाकारों के अधिकारों के लिए काम करने वाले एक संगठन ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की संचालन परिषद, पश्चिम बंगाल सरकार और आईपीएल-8 के उद्घाटन समारोह के आयोजकों को नोटिस जारी किया है। इंडियन परफॉर्मिग राइट सोसायटी (आईपीएरएस) ने रविवार को जारी एक वक्तव्य में दावा किया है कि आयोजक उद्घाटन समारोह में इस्तेमाल होने वाले संगीत के लिए शुल्क अदा नहीं करना चाहते। गौरतलब है कि कोलकाता के साल्ट लेक स्टेडियम में सात अप्रैल को होने वाले आईपीएल के आठवें संस्करण के उद्घाटन समारोह में फरहान अख्तर, शाहिद कपूर, अनुष्का शर्मा, प्रीतम और ऋतिक रोशन जैसी नामचीन बॉलीवुड हस्तियां रंगारंग कार्यक्रम पेश करेंगी। 

आईपीआरएस के लगभग 3,500 लेखक, गीतकार, संगीतकार, प्रकाशक एवं फिल्म निर्माता सदस्य हैं तथा यह संगठन सार्वजनिक तौर पर या वाणिज्यिक संस्थानों में संगीत कार्यक्रम पेश करने का लाइसेंस जारी करती है और मिले शुल्क को सदस्यों के बीच रॉयल्टी के तौर पर वितरित कर देती है। आईपीआरएस ने आईपीएल-8 के उद्घाटन समारोह का आयोजकों, बीसीसीआई-आईपीएल के अध्यक्ष रंजीब बिस्वाल और स्टेडियम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को नोटिस जारी कर कॉपीराइट अधिनियम-1957 के तहत सार्वजनिक तौर पर संगीत कार्यक्रम पेश करने के लिए रॉयल्टी शुल्क अदा करने के लिए कहा है। 

आईपीआरएस के क्षेत्रीय अध्यक्ष अभिषेक बासु ने रविवार को कहा, "पिछले वर्षो की ही भांति इस वर्ष भी आईपीएल मैचों के दौरान संगीत बजाने के लिए आयोजकों ने लाइसेंस लिया है, लेकिन उद्घाटन समारोह में संगीत कार्यक्रम पेश करने के लिए अब तक लाइसेंस नहीं लिया गया है।" बासु ने कहा, "आयोजकों ने रॉयल्टी की अनिवार्य राशि नहीं देना चाहते। इससे हमें मजबूरन यह नोटिस भेजना पड़ा।" ए. आर. रहमान, अनु मलिक, गुलजार, बप्पी लाहिड़ी, रवंद्र जैन, संगीतकार जोड़ी जतिन-ललित के जतिन पंडित, नदीम-श्रवण की संगीतकार जोड़ी के श्रवण राठौड़ और इलैयाराजा जैसे दिग्गज आईपीआरएस के सदस्य हैं।