आम आदमी पर महंगाई की मार, आसमान पर पहुंची इन चीजों की कीमतें

भारत आज महंगाई की समस्या जूझ रहा है. आपकी थाली से लेकर, आपके दफ्तर जाना, घूमना, फ्लाइट टिकट तक के दाम बढ़ते जा रहे हैं. वहीं आम लोगों के समक्ष आज सबसे बड़ी परेशानी है कि क्या दिवाली में दिवाला निकलने वाला है. आपको आज हम सिलसिलेवार ढंग से बताएंगे कि आखिर किसमें कितने दाम बढ़ गए, आपका माह का बजट उससे कितना प्रभावित हुआ है. सबसे प्रथम आपके गाड़ी के ईंधन की बात कर लेते हैं. केवल अक्टूबर माह में 22 दिनों में 17 दिन पेट्रोल डीजल के दाम बढ़े है. 17 दिन में पेट्रोल में 5.25 रुपये 17 दिन में डीजल में 5.75 रुपये की बढ़ोतरी हुई है. इसके अतिरिक्त 17 दिन में CNG में 4.50 रुपये का इजाफा हुआ है. साथ ही घरेलू PNG भी 2.50 रुपये महंगी हो चुकी है.

पेट्रोल कार पर माह का खर्च जो पहले 4,000 रुपये का पड़ता था अब 6,000 रुपये से अधिक हो गया है. पेट्रोल गाड़ी पर महीने का खर्च जो पहले 2,500 रुपये था अब 4,500 रुपये हो गया है. अब आपकी वेजिटेरियन थाली की बात करें तो जो पहले 80 रुपये में थी, अब 120 रुपये से लेकर 180 रुपये तक हो चुकी है.

इसके साथ ही हरी सब्जियों के दामों में 50 से 100 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई है. शिमला मिर्च जहां पहले 80 रुपये में थी जो अब 120 रुपये किलो हो गई मतलब 40 रुपये बढ़ गए हैं. टमाटर 30 रुपये किलो था अब 60 रुपये किलो, आलू पहले जो 15 रुपये किलो था अब 20 रुपये किलो, अरबी पहले से ही 60 रुपये किलो है. लौकी जो पहले 40 रुपये किलो की कीमत पर बिक रही थी आज 60 रुपये किलो हो गई है. भिंडी के दाम पहले से ही 40 रुपये किलो चल रही है. करेला जो पहले 40 में था आज 60 रुपये किलो में बिक रहा है. गोभी जो 60 रुपये किलो था आज 80 रुपये किलो तक दाम हो गए है. बैगन जो पहले 40 रुपये किलो था आज 60 रुपये किलो हो चुका है प्याज के दाम 30 से 35 रुपये में थी आज 50 रुपये किलो तक हो गई है.

कोरोना कम हुआ तो छाया ये बड़ा संकट

करवा चौथ पर गुलगुले से व्रत खोलना होता है शुभ, जानिए इसकी आसान रेसिपी

T20 वर्ल्ड कप से पहले वायरल हो रहे IND vs PAK मैच पर बने मीम्स

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -