इंदौर अब कहलाएगा इंदुर

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी को अभी तक लोग इंदौर के नाम से जानते हैं, लेकिन जल्द ही इसे इंदुर के नाम से जाना जाएगा। जी हां, इस आशय का एक प्रस्ताव नगर निगम में रखा गया है। नगर निगम के सम्मेलन में यह प्रस्ताव वार्ड क्रमांक 70 के भारतीय जनता पार्टी पार्षद सुधीर देग ने रखा। उन्होंने प्रस्ताव में कहा है कि इस शहर का नाम इंदौर से इंदुर कर दिया जाना चाहिए। दूसरी ओर इंदौर नगर निगम के अध्यक्ष अजय सिंह नरूका ने कहा कि पार्षद सुधीर देग ने इस तरह की मांग की है।

इंदुर नाम इंद्रेश्वर महादेव के नाम पर रखा गया था। अपने प्रस्ताव में पार्षद देग ने ऐतिहासिक तथ्यों की बात कही है। जिसमें उन्होंने उल्लेख किया है कि पहले इस शहर का नाम इंदुर ही था। मगर ब्रिटिश राज व्यवस्था में अंग्रेज इसका उच्चारण गलत किया करते थे। जिसके कारण इस शहर का नाम बदलकर इंदौर हो गया। इंदौर को इंदुर नाम से पहचाने जाने को लेकर ऐतिहासिक दस्तावेज पार्षद देग से मांगे गए हैं।

उनसे कहा गया है कि ऐतिहासिक दस्तावेज प्रस्तुत होने के बाद इस पर कोई उचित निर्णय हो सकेगा। गौरतलब हे कि कई लोग इंदौर को इंदुर लिखते हैं और उच्चारण में भी इसे इंदुर ही कहा जाता है। अधिकांश मराठी भाषी और मराठी भाषा की शैली में इसे इंदुर ही लिखा जाता है। उल्लेखनीय है कि यह क्षेत्र रियासतकाल में होल्कर राजवंश का प्रमुख क्षेत्र रहा है। यहां आज भी होल्कर रियासत की इमारतें व स्मारक मौजूद हैं ऐसे में पार्षद देग के प्रस्ताव को मजबूती मिलती है कि इस शहर का नाम इंदुर था।

इंदौर एयरपोर्ट पर होगी नए स्टाफ की भर्ती

इंदौर के इस व्यक्ति ने बनाया अपना अलग देश

मंदिर भारत के, झंडे पाकिस्तान के

मध्यप्रदेश में खुलेंगे 7 मेडिकल काॅलेज

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -