वैश्विक बाजारों में तेजी के बीच भारतीय बाजारों में भी बढ़े कच्चे तेल के दाम

Apr 15 2019 01:32 PM
वैश्विक बाजारों में तेजी के बीच भारतीय बाजारों में भी बढ़े कच्चे तेल के दाम

मुंबई : वैश्विक बाजारों में रही तेजी के बीच स्थानीय स्तर पर बीते सप्ताह दिल्ली थोक जिंस बाजार में गेहूँ और चावल में नरमी रही जबकि चना और गुड़ के दाम बढ़ गये। खाद्य तेलों और दालों में मिलाजुला रुख रहा। समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान विदेशी बाजारों में खाद्य तेलों में मजबूती रही। जून का पाम ऑयल वायदा 63 रिंगिट की साप्ताहिक बढ़त के साथ 2,166 रिंगिट प्रति टन पर पहुँच गया।

रविवार को पेट्रोल और डीजल के रेट में हुई बढ़ोत्तरी दर्ज

ऐसा रहा तेल का हाल 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार मई का अमेरिकी सोया तेल वायदा भी 0.55 सेंट की साप्ताहिक तेजी में सप्ताहांत पर 28.93 सेंट प्रति पौंड बोला गया।आलोच्य सप्ताह के दौरान स्थानीय बाजार में सोया रिफाइंड और सोया डिगम के दाम 75-75 रुपये तथा पाम ऑयल के 150 रुपये प्रति कुन्तल बढ़े। सरसों तेल, मूँगफली तेल, सूरजमुखी तेल और वनस्पति की कीमतों में टिकाव रहा। सप्ताहांत पर सरसों तेल 10,769, मूँगफली तेल 13,700, सूरजमुखी 10,476, सोया रिफाइंड 9,860, सोया डिगम 9,670, पाम ऑयल 7,473, वनस्पति 8,059 रुपये प्रति कुन्तल बोले गये।

फरवरी में घटी भारत की फैक्टरी उत्पादन दर

तिलहन पर भी दिखा असर 

इसी के साथ सप्ताहांत पर अखाद्य तेलों में अरंडी 7000, अलसी 8600, महुआ 6500, नीम 8500, चावल छिलका 4400, एसिड ऑयल 4500, चाय केटी 5500 रुपये प्रति कुन्तल पर रहा। तिलहनों में सरसों 5000-5100, तिल सफेद 6000-6500, तिल लाल 5500-6000, खली सरसों 2000-2100, बिनौला 2000-2200 रुपये प्रति कुन्तल पर रहा।

विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने सचिव को दिये, जेट एयरवेज से संबंधित मुद्दों की समीक्षा करने के निर्देश

केंद्र में बनने वाली नई सरकार बजट में प्रत्यक्ष कर संग्रह लक्ष्य में कर सकती है कटौती

पाकिस्तान में लगातार बढ़ती जा रही है बदहाली, बाजार की हालत बेहद ख़राब