इस महीने से आपकी सैलरी में होगी ज्यादा कटौती, आज से बदल गया ये नियम

Aug 01 2020 03:04 PM
इस महीने से आपकी सैलरी में होगी ज्यादा कटौती, आज से बदल गया ये नियम

नई दिल्ली: नौकरी करने वाले लोगों के लिए आज यानि एक अगस्त से एक बड़ा परिवर्तन होने जा रहा है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण केंद्र की मोदी सरकार ने 3 महीनों के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) योगदान को 12 फीसद से कम करते हुए 10 फीसद कर दिया था। ऐसा फैसला इसलिए किया गया था कि उस मुश्किल वक़्त में कर्मचारी को कैश इन हैंड सैलरी अधिक मिले। अब उस अवधि के तीन माह पूरे हो चुके हैं।  इसलिए अब अगस्त से वापस 12 फीसद की दर से PF कटेगा। इसके चलते अब कर्मचारी के हाथ में वापस कम वेतन आएगा।

मई माह में सरकार के आत्म निर्भर भारत पैकेज के तहत, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने ऐलान किया था कि अगले तीन महीनों तक EPF में कर्मचारी और नियोक्ता का कुल योगदान 24 की जगह 20 फीसद ही जाएगा। यह ऐलान मई, जून और जुलाई महीनों के लिए किया गया था। EPF के नियमों के मुताबिक, प्रतिमाह कर्मचारी का बैसिक सैलरी और DA का 12 फीसद भाग EPF योगदान में जमा होता है। इसी तरफ नियोक्ता भी 12 फीसद राशि जमा करता है। इस तरह कुल 24 फीसद राशी एम्प्लोयी के PF अकाउंट जमा होती है।

इसमें से कर्मचारी का 12 फीसद और नियोक्ता का 3.67 फीसद EPF में जमा होता है जबकि नियोक्ता का 8.33 प्रतिशत योगदान Employees Pension Scheme (EPS) में जाता है। सरकार द्वारा 3 महीने के लिए EPF योगदान में 4 फीसद की कटौती का ऐलान किया गया था,  जिसके चलते 6.5 लाख कंपनियों के 4.3 करोड़ कर्मचारियों को प्रति माह तक़रीबन 2250 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था।

राखी पर मोदी सरकार बेच रही सस्ता सोना, 'गोल्ड बांड' के लिए तय हुई ये कीमत

क्या सच में इस माह फिर बढ़े रसोई गैस सिलिंडर के दाम ? जानें रेट

पेट्रोल-डीजल की कीमत में आज नहीं है कोई बदलाव, जानें क्या है दाम