बंगाल में आयकर विभाग की छापेमारी, 700 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा

कोलकाता: आयकर विभाग ने 17 सितंबर 2021 को इस्पात उत्पादों के विनिर्माण व्यवसाय में लगे एक प्रमुख उद्योग समूह के ठिकानों पर रेड मारी। मामले में 700 करोड़ रुपये से ज्यादा की अघोषित आमदनी का पता लगा है। कोलकाता, दुर्गापुर, आसनसोल और पुरुलिया तथा पश्चिम बंगाल के अन्य क्षेत्रों में फैले इस ग्रुप के आठ आवास, नौ कार्यालयों और आठ फैक्टरी समेत कुल मिलाकर 25 परिसरों में यह अभियान चलाया गया।

इस सर्च ऑपरेशन के दौरान इस ग्रुप के विभिन्न परिसरों से भारी मात्रा में आपत्तिजनक दस्तावेजों और डिजिटल सबूतों का पता चला है। इस समूह द्वारा बेहिसाब नकद बिक्री, नकदी व्यय, फर्जी पार्टियों से खरीदारी, वास्तविक प्रोडक्शन को कम दर्शाने, स्क्रैप की नकद खरीदारी तथा जमीन खरीदने और बेचने से संबंधित अनेक दस्तावेजी प्रमाणों का पता चला है। बेहिसाबी आय का गैर-जमानती ऋणों के रूप में इस्तेमाल करने और शेल (फर्जी) कंपनियों के शेयरों की बिक्री संबंधी सबूतों का भी पता चला है।

इस उद्योग समूह के एक सदस्य के नाम से बड़ी तादाद में संपत्ति के डाक्यूमेंट्स भी बरामद हुए हैं, जिनमें अलग-अलग नामों से जमीन और संपत्ति की होल्डिंग को दर्शाया गया है। ये सभी डाक्यूमेंट्स जब्त कर लिए गए हैं। इस विनिर्माण समूह से संबंधित ऐसे आपत्तिजनक साक्ष्यों की कुल राशि 700 करोड़ रुपये से ज्यादा है। इस अभियान में 20 लाख रुपये की बेहिसाब नकद राशि भी बरामद की गई है, जबकि अभी दो लॉकरों को खोला नहीं गया है।

सरकार ने हाइड्रोजन सोसायटी रोडमैप के विस्तार को दस साल के लिए दी मंजूरी

ओडिशा सरकार ने OMBADC जिलों के लिए 640.55 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को दी मंजूरी

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ने 8 करोड़ पंजीकृत उपयोगकर्ताओं का आंकड़ा किया पार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -