दुनिया में भारत ऐसा देश जहां धार्मिक स्वतंत्रता के सबसे है पक्षधर : पीउ रिसर्च

दुनिया में भारत ऐसा देश जहां धार्मिक स्वतंत्रता के सबसे है पक्षधर : पीउ रिसर्च
Share:

वॉशिंगटन : अमेरिकी संस्था की एक सर्वे रिपोर्ट के हवाले से यह बात सामने आई है की भारत दुनिया के उन देशों में शुमार है जहां लोग सबसे अधिक धार्मिक स्वतंत्रता के पक्षधर हैं। भारत के अतिरिक्त एशिया प्रशांत के कई ऐसे देश है जहां के लोग देश में धार्मिक स्वतंत्रता के पक्षधर हैं। जानकारी दे की यह शोध दुनियाभर के तमाम देशों में धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकार, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, सरकारी सेंसरशिप, राजनीतिक चुनाव और इंटरनेट स्वतंत्रता को आधार बनाकर किया गया है।

अमेरिकी संस्था पीउ रिसर्च ने कुल 38 देशों में अपना शोध अभियान चलाया जिसमें तक़रीबन 40,786 लोगों का साक्षात्कार लिया गया।इस शोध में अधिकतर लोगो का मानना है की धार्मिक स्वतंत्रता के दृष्टिकोण से भारत सबसे ज्यादा स्वतंत्रता देने वाला देश है। सर्वे के अनुसार 'एशिया प्रशांत क्षेत्र में स्थित देशों के लोगों के लिए धार्मिक स्वतंत्रता काफी अहमियत रखती है। हालांकि, इसमें भी अधिकतर मतभेद देखने को मिला। 10 में 8 पाकिस्तानियों, भारतीयों और इंडोनेशियनों के लिए धार्मिक स्वतंत्रता सबसे अधिक अहगम मुद्दा है। वहीं जापान में मात्र 24 फीसदी लोग ही इसे अहमियत देते हैं।

 इसके अतिरिक्त भारत में लिंग समानता और धार्मिक स्वतंत्रता को लोग सबसे अधिक तवज्जो देते हैं। भारत के तक़रीबन 74 फीसदी मीडिया संगठनों के मुताबिक उन्हें देश में अपनी सूचना प्रसारित करने की पूरी स्वतंत्रता है। यहां तक कि वे बड़े राजनीतिक विरोधों को भी आसानी से प्रसारण कर सकते हैं।

इंटरनेट की स्वतंत्रता के अधिकार के मुद्दे अन्य देशों की तुलना में महज 38 फीसदी भारतीयों ने अपना समर्थन जताया। महिलाओं की समानता के अधिकार के बारे में बात करने पर सभी देशों के औसतन 65 फीसदी लोगों ने यह भी माना की महिलाओं को पुरुषों के समान ही अधिकार दिए जाने चाहिए। भारत में तक़रीबन 49 फीसदी लोगों ने मन है की ईमानदार होना बहुत जरूरी है।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -