श्री हनुमान को खुश करने के लिए जरूर गाये उनकी यह आरती

Dec 28 2018 09:00 PM
श्री हनुमान को खुश करने के लिए जरूर गाये उनकी यह आरती

कहते हैं हनुमान जी पूजा हर दिन करने से सभी प्रकार के संकटों से मुक्ति मिल जाती है और उनकी पूजा के दौरान की गई उनकी आरती महलाभ देती है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं हनुमान जी की वह आरती जिसे आप उनकी हर पूजा में गाकर उन्हें खुश कर सकते हैं और लाभ ही लाभ पा सकते हैं. आइए बताते हैं.


हनुमान जी की आरती - 
आरती कीजै हनुमान लला की। दुष्ट दलन रघुनाथ कला की।।
जाके बल से गिरिवर कांपे। रोग दोष जाके निकट न झांके।।

अंजनि पुत्र महाबलदायी। संतान के प्रभु सदा सहाई।
दे बीरा रघुनाथ पठाए। लंका जारी सिया सुध लाए।

लंका सो कोट समुद्र सी खाई। जात पवनसुत बार न लाई।
लंका जारी असुर संहारे। सियारामजी के काज संवारे।


लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे। आणि संजीवन प्राण उबारे।
पैठी पताल तोरि जमकारे। अहिरावण की भुजा उखाड़े।

बाएं भुजा असुर दल मारे। दाहिने भुजा संतजन तारे।
सुर-नर-मुनि जन आरती उतारे। जै जै जै हनुमान उचारे।


कंचन थार कपूर लौ छाई। आरती करत अंजना माई।
लंकविध्वंस कीन्ह रघुराई। तुलसीदास प्रभु कीरति गाई।

जो हनुमानजी की आरती गावै। बसी बैकुंठ परमपद पावै।
आरती कीजै हनुमान लला की। दुष्ट दलन रघुनाथ कला की।

मंगलवार की शाम इस तरह 3 बार लें भगवान राम का नाम, 24 घंटे में होगा बड़ा चमत्कार

हनुमानजी की जाति विवाद पर भड़की शिवसेना, कहा रामायण के बाकि पत्रों को भी दो जाति प्रमाणपत्र

ये है असल जिदंगी के हनुमान जी, दर्शन के लिए लगती है भक्तों की लाइन