इतिहास से लेकर वर्तमान तक सोशल मीडिया पर मिलती है हर विषय की जानकारी

सोशल मीडिया डे हर वर्ष आज ही के दिन यानि 30 जून को सेलिब्रेट किया जाता है। आज के समय में बहुत कम ऐसे लोग हैं जो सोशल मीडिया पर सक्रीय नहीं हैं। बता दें कि इस दिन को मनाने का मकसद सोशल मीडिया के प्रभाव के बारे में और वैश्विक संचार में जिसकी  भूमिका को उजागर करने के बारे में जानकारी देना है। ऐसे में इस दिन से जुड़े इतिहास के बारे में पता होना जरूरी है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि सोशल मीडिया दिवस  किस लिए सेलिब्रेट किया जाता है।  

सोशल मीडिया दिवस का इतिहास:  खबरों का कहना है कि इस दिन की शुरुआत विश्वभर में 30 जून 2010 को हुई थी। तब से इस दिन को विश्व सोशल मीडिया दिवस (World Social Media Day )के रूप में सेलिब्रेट किया जाने लगा।  अब सवाल ये है कि इस दिन की शुरुआत क्यों की गई? बता दें कि उस वक़्त सोशल मीडिया का प्रभाव लोगों पर अधिक नहीं था। ऐसे में पूरे वर्ल्ड में जिसके प्रभाव और वैश्विक संचार में इसकी भूमिका को हाइलाइट करने के लिए विश्व में सोशल मीडिया दिवस सेलिब्रेट किया जाने वाला है। ऐसे में

सबसे पहला सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म: विश्वभर में सबसे पहले पहला सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म सिक्सडिग्री पेश किया जाने लगा है। जो कि 1997 में किया गया था। इस प्लेटफॉर्म की स्थापना एंड्रयू वेनरिच द्वारा की जा चुकी है। वहीं वर्ष 2001 में इसके दस लाख से अधिक यूजर्स थे उसके बावजूद भी इसे बंद किया गया था।

आज का सोशल मिडिया: आज के वक़्त में लोगों के मध्य ट्विटर, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, स्नैपचैट जैसे प्लेटफॉर्म अपनी पकड़ बनाए हुए हैं। बदलते वक़्त के साथ सोशल मीडिया के रूप में भी परिवर्तन भी देखने के लिए मिला है।

सोशल मीडिया दिवस का महत्व: सोशल मीडिया के माध्यम से हजारों मील दूर बैठे व्यक्ति से मैसेज के जरिए जुड़े हुए है। वहीं एक बटन पर दुनिया की तमाम जानकारी ले सकते हैं।

Facebook और Instagram ने उठाया बड़ा कदम! भूलकर भी ना करें ये गलती वरना बेन हो जाएगा अकाउंट

कोरोना के बाद अब इन 2 गंभीर बीमारियों के खिलाफ शुरू होगा टीकाकरण

एसिड में इस शख्स ने डाला iPhone और सैमसंग का ये फोन और फिर...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -