कैथोलिक चर्चों की ‘काली करतूत’ पर खौफनाक रिपोर्ट, पादरियों की 'हवस' का शिकार बने 3 लाख मासूम

पेरिस: फ्रांस के कैथोलिक चर्चों में बीते 70 वर्षों में 3,30,000 बच्चे यौन शोषण का शिकार हुए हैं. मंगलवार को जारी हुई एक रिपोर्ट में यह सनसनीखेज जानकारी दी गई है. बता दें कि ये पहली दफा है, जब फ्रांस के चर्चों में होने वाली इस तरह की अश्लील और घिनौनी हरकतों की गणना की गई है. इस रिपोर्ट को जारी करने वाली कमीशन के चीफ जीन-मार्क सॉवे ने कहा कि ये अनुमान वैज्ञानिक रिसर्च के आधार पर लगाए गए हैं. ये अपराध पादरियों और अन्य धार्मिक लोगों के साथ ही उन गैर-धार्मिक लोगों द्वारा किए गए हैं, जो चर्च से संबंधित थे. उन्होंने कहा कि 80 फीसदी पीड़ित पुरुष थे.

जीन-मार्क सॉवे ने आगे कहा कि, इसके परिणाम बेहद गंभीर हैं. यौन हिंसा का शिकार होने वाले 60 फीसदी पुरुषों और महिलाओं का कहना है कि उन्होंने अपने यौन जीवन में काफी समस्याओं का सामना किया है. 2500 पन्नों वाली इस रिपोर्ट को एक स्वतंत्र आयोग ने तैयार किया था. ये रिपोर्ट ऐसे वक़्त में आई है, जब विश्व के अन्य देशों की तरह फ्रांस के कैथोलिक चर्चों की काली करतूत सबके सामने आ रही है, जबकि इस तरह के मामले लंबे समय से छिपे हुए थे. रिपोर्ट में कहा गया है कि यौन अपराध करने वाले 3,000 लोगों ने चर्च के साथ काम किया. इन यौन अपराधियों में से दो तिहाई चर्च के पादरी थे.

सॉवे ने कहा कि पीड़ितों की कुल तादाद में अनुमानित ऐसे 2,16,000 लोग लिप्त हैं, जो पादरियों और अन्य धार्मिक लोगों द्वारा यौन हिंसा का शिकार हुए. पीड़ित संघ ‘पार्लर एट रिविवर’ (स्पीक आउट एंड लिव अगेन) के चीफ ओलिवियर सैविग्नैक ने इस तफ्तीश में अपना योगदान दिया था. उन्होंने एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि यौन अपराधियों द्वारा प्रति पीड़ितों की उच्च दर का अनुपात फ्रांसीसी समाज और कैथोलिक चर्च के लिए खौफनाक है. इस कमीशन ने ढाई वर्षों तक कार्य किया. वहीं, 1950 के दशक से पीड़ितों और गवाहों के बयानों को सुना गया. चर्च, अदालत, पुलिस और प्रेस आर्काइव का अध्ययन कर यह रिपोर्ट तैयार की गई.

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान ने फिर अलापा कश्मीर राग, भारत से मिला मुंहतोड़ जवाब

क्रूरता पर उतरा तालिबान, 13 मुस्लिमों को उतारा मौत के घाट, मृतकों में 17 वर्षीय लड़की भी शामिल

पाकिस्तान की धार्मिक पार्टी ने की अफगान में तालिबान सरकार को मान्यता देने की मांग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -