फारूक अब्दुल्ला का आरोप, चुनावी लाभ के लिए साम्प्रदायिकता फैला रही भाजपा

श्रीनगर: अभी जम्मू कश्मीर में हालात काबू में हैं। लेकिन इसका कारण कर्फ्यू है। यह देखना होगा कि घाटी से कर्फ्यू हटाए जाने और स्कूल-कॉलेज और दूसरे संस्थान के खुलने के बाद कैसे हालात रहते हैं। ये बातें कही है जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम और नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) फ़ारूक़ अब्दुल्ला ने, उनसे घाटी की स्थिति के बारे में सवाल किया गया था। अल्पसंख्यक समुदाय दहशत में है, जिसे समाप्त होने में समय लगेगा। मैं आशा करता हूं कि हालात और न बिगड़ें। साथ ही सरकार से उम्मीद है कि वह हालात को काबू में रखने की कोशिश करेगी।

माया ने बाप-बेटे में डाली दरार, मुलायम ने अखिलेश को जमकर घेरा

जब उनसे पुछा गया कि क्या कश्मीर में सांप्रदायिक हिंसा, राजनीतिक फायदे के लिए फैलाई जा रही है, इस पर उन्होंने जवाब दिया कि हां, मुझे लगता है कि इस तरह के हालात पैदा किए जा रहे हैं और इसमें कोई संदेह ही नहीं है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) किसी भी कीमत पर लोकसभा चुनाव जीतना चाहती है और इसके लिए वो सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने सहित सभी तरह के प्रयास कर रही है। ये लोग कई मुद्दों पर हिंदुओं और मुसलमानों में दरार डालने का प्रयास कर रहे हैं। स्पष्ट संकेत हैं कि ये लोग देश में सांप्रदायिक सद्भाव नहीं चाहते हैं।

केजरीवाल का दावा, पीएम मोदी के घर में घुसकर भी दे सकता हूँ धरना

जब अब्दुल्ला से सवाल किया गया कि ऐसे हालात से किस तरह निपटा जाए तो उन्होंने कहा है कि मुझे आशा है कि इस तरह के हालात से निपटने के लिए देश में समझदार लोग और नेतृत्व दोनों हैं। वर्ना तो देश पर जबरदस्त खतरा मंडरा रहा है। मुझे लगता है कि भारत को बाहर से नहीं, भीतर से ही गंभीर खतरा है।

खबरें और भी:-

 

अमित शाह ने कश्मीर समस्या को बताया नेहरू की देन, कहा अगर सरदार पटेल होते तो...

पुलवामा हमले पर शिवसेना ने सरकार को घिरा, कहा अपने दम पर पाक को सबक सिखाए भारत

अमर सिंह ने RSS को दान की अपनी संपत्ति, पीएम मोदी को दिया जीत का वरदान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -