हरयाणा: धान खरीद बंद किए जाने पर फूटा किसानों का गुस्सा, क़ृषि मंत्री समेत कई विधायकों का आवास घेरा

चंडीगढ़: हरियाणा में धान की खरीद बंद करने पर किसानों का आक्रोश देखने को मिला है. जींद, भिवानी, पानीपत समेत कई जगहों में किसान सड़कों पर उतर आए हैं. भिवानी में किसानों ने कृषि मंत्री जेपी दलाल के आवास को घेर लिया है. सुरक्षा के मद्देनज़र मौक़े पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. किसानों ने मंत्री की उपस्थिति में PA को मांगपत्र सौंपा और हरियाणा सरकार पर किसानों की उपेक्षा करने का इल्जाम लगाया है.

वहीं, किसानों के विरोध के मद्देनज़र अब, धान खरीद जल्दी कराने को लेकर प्रदेश सरकार गंभीर हुई है और सीएम मनोहर लाल, कृषि मंत्री जेपी दलाल दिल्ली जाने वाले हैं. इस दौरान वे केंद्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री अश्विनी चौबे से मुलाकात करेंगे. वहीं, किसानों का कहना है कि सरकार एक-एक दाना ख़रीदने का दावा करती है, मगर अब धान खरीद बंद क्यों कर दी गई है. खरीद में देरी होने की वजह से किसान की उपज औने-पौन दामों में पिटेगी. मांगपत्र के जरिए जल्द खरीद करने की माँग की गई है. साथ में बेमौसमी बारिश से तबाह फ़सलों का मुआवज़ा देने और खेतों में खड़े पानी की निकासी की भी माँग की गई है.

जींद जिले में फसल खरीद को लेकर खट्टर सरकार तक बात पहुंचाने के लिए किसानों ने जेजेपी MLA रामनिवास सुरजाखेड़ा के आवास के बाहर डेरा जमाया है. किसान धान की सरकारी खरीद को 11 अक्टूबर तक स्थगित करने पर विरोध कर रहे हैं. क्योंकि हरियाणा में जेजेपी और भाजपा की गठबंधन सरकार है, इसलिए किसानों ने आवाज बुलंद करने के लिए जेजेपी MLA का आवास घेरा है. दरअसल, हरियाणा सरकार हाल ही में हुई बरसात की वजह से नमी और फसल के सही से पकी न होने का हवाला देकर तारीख बढ़ाने का पत्र जारी कर चुकी है.  कृषकों का कहना है कि सरकार धान में नमी पाए जाने पर कटौती कर सकती है. किन्तु खरीद शुरू की जाए. यहां भी मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

गांधी जयंती पर ट्रेंड हुआ 'गोडसे जिंदाबाद' तो भड़के वरुण गांधी, कह डाली ये बात

'यूपी में पूर्ण बहुमत से वापसी करेगी भाजपा, योगी आदित्यनाथ फिर बनेंगे CM'

हुजूरबाद विधानसभा क्षेत्र में राजनीतिक अभियान हुआ तेज

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -