बाढ़ से फसल प्रभावित होने के बाद किसान ने उठाया ये कदम

Oct 24 2020 08:33 AM
बाढ़ से फसल प्रभावित होने के बाद किसान ने उठाया ये कदम

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र में शुक्रवार को एक 30 वर्षीय किसान की फसल ख़राब होने की वजह से उसने खुद की जान ले ली। वहीं यह घटना ओमेगा तहसील क्षेत्र के कादर गांव में कल शाम यानी शुक्रवार को हुई।

ओमेगा पुलिस स्टेशन के एसके शेख ने कहा कि शिवाजी जाधव नाम के एक व्यक्ति ने  किसान को तड़के एक पेड़ से लटका पाया, और उसके बाद उसने तुरंत पुलिस को बताया। उन्होंने कहा कि घटनास्थल से एक सुसाइड नोट बरामद किया गया था, जिसमें कहा गया था कि वह बारिश और बाढ़ के कारण नष्ट हुई फसलों से उसको भारी नुकसान पंहुचा है, जिसके चलते वह ख़ुदकुशी कर रहा है। बता दें कि किसान अविवाहित था।

पुणे, औरंगाबाद और कोंकण में सोयाबीन भारी बारिश और बाढ़ के कारण नष्ट हो गई है, वहीं कई इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है, जिनमे से उस्मानाबाद, लातूर, सोलपौर, नांदेड़ और पंढरपुर (सोलापुर) क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर कपास और गन्ना खराब हो गए। पिछले सप्ताह लाखों हेक्टेयर में लगी फसलों को भी नुकसान पहुँचा।

मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने नई परियोजना में इतने करोड़ खर्च करने का किया एलान

प्याज की बढ़ती कीमतों को कम करने के लिए सरकार उठाएगी ये खास कदम

मुंबई पुलिस ने अपने कर्मियों के खातों को एचडीएफसी बैंक में किया स्थानांतरित