मशहूर कार रेंटल कंपनी हर्ट्ज़ पर लॉकडाउन की मार, किया दिवालिया होने के लिए आवेदन

मशहूर कार रेंटल कंपनी हर्ट्ज़ पर लॉकडाउन की मार, किया दिवालिया होने के लिए आवेदन

वाशिंगटन: लॉक डाउन के चलते यात्रा प्रतिबंधों और वैश्विक आर्थिक संकट के दौरान अपने वाहनों की मांग में आई गिरावट के कारण, एक सदी पहले एक दर्जन फोर्ड मॉडल टी के साथ स्थापना करने वाली कार-रेंटल कंपनी हर्ट्ज़ ग्लोबल होल्डिंग्स ने शुक्रवार देर रात दिवालिया होने का आवेदन दायर किया है। डेलावेयर में अध्याय 11, हर्ट्ज को तब तक परिचालन में रखने की अनुमति देती है, जब तक वह लेनदारों को भुगतान करने की योजना तैयार करता है।

इस मामले से परिचित व्यक्ति के अनुसार, अमेरिका की दूसरी सबसे बड़ी कार-रेंटल-कार कंपनी को अब के लिए  देनदानों को देने के लिए वित्तपोषण की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि कंपनी के पास 1 बिलियन डॉलर से अधिक नकद मौजूद है। हर्ट्ज की अदालत एक दाखिल याचिका में 25.8 बिलियन डॉलर की संपत्ति और 24.4 बिलियन डॉलर के ऋणों को सूचीबद्ध किया, और इसके सबसे बड़े लेनदारों में आईबीएम कॉर्प और लिफ़्ट इंक को शामिल किया गया हैं। 

कोरोना वायरस महामारी की वजह से राजस्व में गिरावट आने के बाद, कार रेंटल कंपनी ने  उधारदाताओं और अमेरिकी ट्रेजरी विभाग से थोड़ी राहत मांगी है। हालांकि, कंपनी लेनदारों से अल्पकालिक पुनर्खरीद पर बातचीत करने में कामयाब रहा, लेकिन दीर्घकालिक समझौतों को पूरा करने में सक्षम नहीं था।

इस स्थान पर ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए बनाए गए खास क्वारंटाइन सेंटर

यहां पर 15 जून से खुलने वाले है स्कूल, सरकार ने लिया बड़ा फैसला

NGT में फैला कोरोना संक्रमण, सभी कर्मचारी अस्पताल में भर्ती