म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन:विदेश मंत्री एस जयशंकर ने लिया भाग, हर देश के राष्ट्रवादी पर बोली ये बात

Feb 15 2020 11:42 AM
म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन:विदेश मंत्री एस जयशंकर ने लिया भाग, हर देश के राष्ट्रवादी पर बोली ये बात

जर्मनी में म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गर्मजोशी से भाग लिया. उन्होने इस महत्वपूर्ण सम्मेलन में राष्ट्रवाद के मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि यह कोई सवाल नहीं है कि दुनिया अधिक राष्ट्रवादी हो गई है. अमेरिका, चीन और दुनिया के कई देश अधिक राष्ट्रवादी हैं. इस राष्ट्रवाद का बहुत कुछ वैधानिक रूप से मान्य है. जयशंकर ने आगे कहा कि ऐसे भी देश हैं जहां यह एक सकारात्मक मुखर राष्ट्रवाद है. कई मामलों में यह अधिक असुरक्षित राष्ट्रवाद है. तथ्य यह है कि एक ज्यादा राष्ट्रवादी दुनिया स्पष्ट रूप से एक कम बहुपक्षीय दुनिया है.

दिल्ली में शर्मनाक हार के बाद क्या राहुल गाँधी फिर बनेंगे अध्यक्ष ? दो फाड़ हुई कांग्रेस

अपने बयान में आगे विदेश मंत्री ने कहा कि अगर इतिहास पर गौर करे तो संयुक्त राष्ट्र को लेकर लोगों के विश्वास में कमी आई है. यह आश्चर्य की बात नहीं है क्योंकि जब आप इसके बारे में सोचते हैं तो बहुत सारी चीजें वैसी नहीं हैं जो 75 साल पहले थी और अभी भी उतनी ही अच्छी है जितनी वह थी. स्पष्ट रूप से कहा जाए तो वहां कुछ सकरने की जरूरत है.

दिल्ली : रविवार को होगा केजरीवाल का शपथ ग्रहण समारोह, जानिए सारे डायवर्जन

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन अंतरराष्ट्रीय कूटनीति का एक बड़ा मंच हैं जहां दुनिया भर के नेता और राजनयिक अहम मुद्दों पर अपनी राय रखते हैं. इसकी शुरुआत 1962 में जर्मन सैन्य अधिकारी एवाल्ड फोन क्लाइस्ट ने की थी. क्लाइस्ट वही सैन्य अधिकारी हैं जिन्होंने तानाशाह एडोल्फ हिटलर की हत्या की योजना बनाई थी। बाद में वह प्रकाशक बन गए थे. शीत युद्ध के जमाने में म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन को वेरकुंडे कांफ्रेंस के नाम से जाना जाता था.

पुलवामा हमले को लेकर कांग्रेस नेता उदित राज का विवादित बयान, कहा- 2024 से पहले फिर होगा हमला

अर्थव्‍यवस्‍था: विपक्ष ने मोदी सरकार को घेरा, भाजपा ने जनता को साधने के लिए बनाया नया प्लान

PDP को बड़ा झटका, पुंछ के पूर्व विधायक ने भी पार्टी से तोड़ा रिश्ता