हर दिन तेजी से बढ़ता जा रहा है इलेक्ट्रिक वाहन का कारोबार

हर दिन तेजी से बढ़ता जा रहा है इलेक्ट्रिक वाहन का कारोबार
Share:

इंडिया एनर्जी स्टोरेज एलायंस (IESA) ने अपनी रिपोर्ट में भी दावा किया जा चुका है कि साल 2021-2030 के मध्य इंडियन इलेक्ट्रिक वाहनों का मार्केट 49% की वार्षिक वृद्धि दर से विस्तार कर सकता है और बिक्री के केस में यह आंकड़ा वर्ष 2030 तक 17 मिलियन सलाना के पार जा सकती है।   

ये है बिक्री में बढ़त का कारण: केंद्र और राज्य दोनों गवर्नमेंट से निरंतर सब्सिडी समर्थन, नई कम्पनियों का इस सेगमेंट में प्रवेश, ईवी प्रौद्योगिकी में विकास, ईंधन की बढ़ती हुई कीमतें और कार्बन उत्सर्जन मानकों में कड़ाई जैसे आधारों से प्रेरित होकर बिक्री में इस वृद्धि का अनुमान भी लगाया जा चुका है। 

टू व्हीलर्स की होती है सबसे ज्यादा बिक्री: वर्ष 2020 की महामारी के उपरांत घरेलू बाजार में आई मंदी से EV उद्योग ही सबसे तेजी से उबरा है। खबरों का कहना है कि इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर सेगमेंट, घरेलू बाजार में कुल 4।67 लाख से ज्यादा ईवी बिक्री का तकरीबन आधा है। जिसके उपरांत सबसे अधिक बिकने के केस में लो-स्पीड ई-थ्री-व्हीलर्स का नंबर आ जाता है। इसके साथ ही अन्य सेगमेंट में भी बिक्री में बढ़ोत्तरी भी देखने के लिए मिली है।

क्या कहती है IESA की रिपोर्ट?: रिपोर्ट में में इस बारें में बोला गया है कि इंडियन ईवी बाजार में 2021 और 2030 के बीच तकरीबन 49 फीसद के CAGR से विस्तार देखने को मिलने वाला है। तब तक ईवी की बिक्री लगभग 17 मिलियन यूनिट की साल की बिक्री तक पहुंचने का अनुमान है, जिसमें इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की हिस्सेदारी तकरीबन 1।5 करोड़ यूनिट्स रहने का अनुमान भी लगाया जा चुका है। आंकलन के मुताबिक 2021 से 2030 के बीच, बैटरी की वार्षिक मांग तकरीबन 41 फीसद की चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (CAGR) से बढ़कर 142 GWh तक पहुंचने का अंदाजा लगाया जाने लगा है। 

इन कारणों से बढ़ेगी बिक्री: फिलहाल 2021 तक EV बैट्री की मांग 6।5 GWh है और रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2024–25 के बाद से तेजी से बढ़ने का अनुमान भी है। क्योंकि तब तक इन वाहनों की प्रारंभिक लागत पारंपरिक ईंधन से चलने वाले इंजन-संचालित कारों के लगभग बराबर होने की उम्मीद है। बैटरी की गिरते मूल्यों, ईवी प्रौद्योगिकी में प्रगति, घरेलू उत्पादन में वृद्धि इन वाहनों की कीमतों में कमी का अहम् कारण है।

इन वाहनों से की जाती थी भारत की सुरक्षा

बरसात में इस तरह करें अपनी कार की सुरक्षा

Maruti के दीवानों का बढ़ा आंकड़ा

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -