नक्सल मुक्त हुआ पूर्वी सिंघभूम जिला

धनबाद: झारखण्ड सरकार द्वारा नक्सलियों के खिलाफ चलाया गया अभियान सफल प्रतीत हो रहा है, राज्य के 16 अति उग्रवादी जिलों में से एक जिला  पूर्वी सिंहभूम नक्सलियों से पूर्णतः रिक्त हो गया है. इसके साथ ही जिला के पिछड़े जिले की फेहरिस्त में शामिल होने का कलंक भी मिट गया है. इस बारे में उपयुक्त अमित कुमार ने कहा है कि गृह विभाग ने नक्सली क्षेत्रों की जो सूची जारी की है, उसमें पूर्वी सिंहभूम जिला शामिल नहीं है.

इसके अलावा पूर्वी सिंहभूम  जिले को  कौशल विकास योजना में भी प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है, इसके तहत जिला में मेगा स्किल डेवलपमेंट सेंटर की स्थापना की गई, नियोक्ता सम्मेलन कराया गया. इस योजना के तहत पिछली बार 15,000 युवाओं को नियुक्ति पत्र दिया गया था. इस बार सरकार का 20,000 युवाओं को नियुक्ति पत्र देने का लक्ष्य है, इसी कड़ी में 31 मई को पैन-आइआइटी, गुरुकुल व आरसेटी के सहयोग से इंडस्ट्री कनेक्ट प्रोग्राम किया जाएगा.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान के तहत देश भर के पिछड़े इलाकों में बनाए जा रहे शौचालयों के मामले में भी  पूर्वी सिंहभूम  ने बाज़ी मारी है. बताया जा रहा है कि  जिला गांधी जयंती (दो अक्टूबर) से पहले खुले में शौच मुक्त घोषित कर दिया जाएगा, जून तक शौचालय निर्माण का काम पूरा करने के लक्ष्य पर काम हो रहा है. 

कांग्रेस हुई नाराज़, जिलाध्यक्षों पर गिरेगी गाज़

करोड़ों रु का बैंक चोर हसन चिकना गिरफ्तार

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -