मेडिकल कॉलेज में कोरोना से मृत मरीज का शव हुआ गायब, लापरवाही का मामला आया सामने

जबलपुर : देश भर में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. वहीं, जबलपुर में चौका देने वाला मामला सामने आया है. कोरोना वायरस से संक्रमित एक युवक की उपचार के दौरान मेडिकल कॉलेज स्थित सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में शुक्रवार सुबह 10.40 बजे मौत हो गई. इस तरह जिले में कोरोना से मृत मरीजों का आंकड़ा 12 तक पहुंच गया है. वहीं कोरोना से संक्रमित मरीज का शव गायब होने की खबर शुक्रवार दोपहर मेडिकल कॉलेज अस्पताल परिसर में आग की तरह फैल गई. शव की तलाश में अधिकारी व कर्मचारी पोस्टमार्टम यूनिट, मरचुरी का कोना-कोना छानने में जुट गए. मृतक के स्वजन गढ़ा चौहानी स्थित मुक्तिधाम में शव के अंतिम संस्कार की प्रतीक्षा करते रहे.

वहीं, करीब 5 घंटे बाद मरीज का शव सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल भवन के पीछे स्ट्रेचर पर लावारिस हालत में मिला. जिसके बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली. स्वजन की उपस्थिति में कोविड-19 की गाइड लाइन के तहत मोक्ष संस्था द्वारा शव का अंतिम संस्कार करा दिया गया है. इस बारें में बताया जाता है कि लापरवाह कर्मचारी स्ट्रेचर पर रखा शव सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के पिछले हिस्से में सुनसान जगह पर छोड़कर चले गए थे. इधर, शुक्रवार दोपहर आईसीएमआर के एनआइआरटीएच से जारी 56 सैंपल की रिपोर्ट में कोरोना के 6 नए मरीज सामने आए जिसमें जमतरा गौर स्थित आइटीबीपी में पदस्थ जवान भी शामिल है. इन मरीजों में 4 न्यू शास्त्री नगर निवासी एक ही परिवार से हैं.

आपको बता दें की इस तरह जिले में अब तक कोरोना मरीजों की संख्या 302 हो गई है जिसमें 12 की जान चली गई है. इधर, आइटीबीपी का जवान 9 जून को ट्रेन से दिल्ली से आया था. गले में खराश का इलाज कराने वह रेलवे स्टेशन से सीधे विक्टोरिया अस्पताल पहुंचा था जहां उसे भर्ती कर लिया गया था.

मुलायम की बहु अपर्णा को योगी सरकार ने दी Y श्रेणी सुरक्षा

कुँए में गिरा पिकअप वाहन, दो बच्चों की मौत, 6 घायल

NIA के हत्थे चढ़ी महिला पाकिस्तानी जासूस तानिया परवीन, बांग्लादेश बॉर्डर से हुई गिरफ्तार

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -