कई बीमारियों के संकेत देता है पेशाब का बदला हुआ रंग

आमतौर पर ऐसे कई कारण हैं जिसकी वजह से पेशाब का रंग पीला हो जाता है। यूरोबिलिन नामक यूरोक्रोम पिगमेंट पेशाब के रंग के लिए ज़िम्मेदार होता है। यदि आप देख रहे हैं कि आपके पेशाब का रंग गहरा पीला, हरा या लाल है, तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। यदि आपकी उम्र अधिक है और आपके पेशाब का रंग पीला हो रहा है तो आपको सतर्क होने की जरूरत है क्योंकि इसकी वजह से आपको कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 

चीनी से हो सकती है डायबिटीज से भी ज्यादा खतरनाक बीमारी

यह हो सकते है इसके कारण 

जानकारी के लिए आपको बता दें स्वस्थ और फिट रहने के लिए, आंवले का सेवन करें। इसमें विटामिन सी होता है जौ ब्लैडर इंफेक्शन को कम करता है। थोड़ा आमला जूस लें और इसमें कुछ शहद मिलाएं। इस मिश्रण को केले के साथ हर रोज सेवन करें। इसी के साथ बहुत से लोग सोचते हैं कि पानी का सेवन या तरल पदार्थों का सेवन कम करने से बार-बार पेशाब आने की समस्या कम हो जाएगी। लेकिन ऐसा सच नहीं है। छोटे कप और कम मात्रा में पानी पिएं लेकिन दिन भर पिएं। हालांकि, सोने से पहले पानी ना पिएं।

लीवर के लिए बेहद फायदेमंद है अनार के जूस का सेवन

इसका करें उपयोग होगा फायदा 

इसी के साथ दही में अच्छे बैक्टीरिया होते हैं जो ब्लैडर को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह ब्लैडर और किडनी को ठीक से काम करने में मदद करता है। दही का हर रोज सेवन करें। फ्लेवर्ड दही ना खाएं। वही सेब के सिरके में एंटी बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जो इसे एक स्वस्थ पेय बनाते हैं। यह शरीर के पीएच संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है क्योंकि इसमें प्राकृतिक मिनरल होते हैं।

कमर दर्द की परेशानी को दूर करेंगे ये आसान नुस्खे..

60 की उम्र में भी यंग दिखना है तो इस डाइट को करें फॉलो

बार बार हो रहा गर्भपात तो घर में अपनाएं नुस्खे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -