उत्तराखंड में आये 1.81 लाख प्रवासी

May 31 2020 06:22 PM
उत्तराखंड में आये 1.81 लाख प्रवासी

उत्तराखंड के मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण अभी सामुदायिक फैलाव के फेज में नहीं आया है। जितने भी पॉजिटिव केस आए हैं, उनकी ट्रैवल हिस्ट्री और कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग जारी है। ज्यादातर मामले बाहर से लौटे प्रवासियों के संक्रमित होने के आ रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग संक्रमण से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है।मीडिया से बातचीत में उन्होंने जनता से अपील की है कि आने वाले दिनों में और अधिक अनुशासन बनाए रखने की जरूरत है। कहा कि धीरे-धीरे बाजार के खुलने में ढील दे रहे हैं, लेकिन लोगों को दुकानों में भीड़ एकत्रित नहीं होने देनी है।

मुख्य सचिव ने बताया कि प्रदेश में लौटने के लिए 2.62 लाख उत्तराखंड के प्रवासियों ने पंजीकरण करवाया था, जिसमें से 1.81 लाख लोग आ चुके हैं। सर्वाधिक दिल्ली से 66 हजार, यूपी से 28 हजार, हरियाणा से 25 हजार, महाराष्ट्र से 13 हजार, पंजाब और चंडीगढ़ से 10 हजार, राजस्थान से नौ हजार से अधिक, गुजरात से आठ हजार और कर्नाटक से छह हजार सहित अन्य राज्यों से 4500 के करीब प्रवासी आए हैं। उन्होंने कहा कि अब शेष पंजीकृत लोगों में से अधिकांश आना नहीं चाह रहे।28 मई को 98 हजार लोगों को एसएमएस किया था, जिसमें तीन हजार ने आने की इच्छा जताई है। उन्हें लाया जाएगा।

इसके अलावा जयपुर, मंगलौर, गोवा, नासिक और केरला से ट्रेन उत्तराखंड के लिए चलाई जा सकती है।बशर्ते आने वालों की पर्याप्त संख्या मिले। सरकार हर हालत में फंसे लोगों को किसी न किसी माध्यम से लेकर आएगी। बताया कि राज्य से जाने वालों की संख्या 64 हजार है। इसमें सर्वाधिक यूपी के 27500, बिहारी के 18500, दिल्ली के 56 सौ सहित अन्य कुछ राज्यों के प्रवासी भी हैं।

Mini Countryman का धमाकेदार लुक कर देगा पागल, जानें अन्य फीचर्स

शहरी इलाकों में घुसा टिड्डियों का समूह, कई जिलों में मचाई तबाही

इस खूबसूरत देश में कोरोना से नहीं हुई एक भी मौत, चीन से लगती है बॉर्डर