बस्तियों में कोरोना फैलता देख बोले चेतन भगत- 'तरक्की की जरूरत है, लॉकडाउन की नहीं'

बस्तियों में कोरोना फैलता देख बोले चेतन भगत- 'तरक्की की जरूरत है, लॉकडाउन की नहीं'

इस समय कोरोना वायरस का पहरा लगा हुआ है और इस पहरे के कारण लोग अपने घरों में कैद हैं. इस समय भारत में इससे संक्रमित लोगों की संख्या डेढ़ लाख से भी कहीं आगे पहुंच चुकी है. वहीँ अब हाल ही कोरोना के खिलाफ जारी जंग को लेकर मशहूर लेखक चेतन भगत ने ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. आप देख सकते हैं उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि, ''झुग्गियों वाले कई शहरों में कोरोना की लड़ाई हारना. बस्तियों को तरक्की की जरूरत है, लॉकडाउन या पहले से गरीब लोगों की आजीविका छीनने की नहीं.''

इसी के साथ ही चेतन भगत ने अपने ट्वीट में महाराष्ट्र की राजनीति को लेकर भी निशाना साधा है. जी दरअसल चेतन भगत ने बस्तियों में फैल रहे कोरोना वायरस को लेकर ट्वीट करते हुए लिखा, "बड़े पैमाने पर झुग्गियों वाले शहरों में कोरोना की लड़ाई हारना. बस्तियों को उन्नति की जरूरत है, न कि लॉकडाउन या वहां पहले से रहने रहे गरीब लोगों की आजीविका छीनने की. मुंबई ने दशकों तक अनदेखी की है. इसे ठीक करना महाराष्ट्र की राजनीति में कभी भी महत्वपूर्ण मुद्दा नहीं रहा है. आज हम इसकी कीमत चुका रहे हैं." आप सभी को बता दें कि चेतन भगत के इस ट्वीट पर फैंस भी खूब कमेंट कर रहे हैं. वैसे हम आप सभी को बता दें कि इसके अलावा चेतन भगत ने एक और ट्वीट किया है.

 

जी हाँ और उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, "कोरोना, अर्थव्यवस्था, चक्रवात, टिड्डी और बाढ़. पाकिस्तान, चीन, नेपाल (सच में...). यहां कई चीज हैं, जिससे देश जूझ रहा है. आपकी क्या विचारधारा है और मान्यता है. चलिए एक साथ होते हैं और एक-दूसरे के साथ अच्छे बनते हैं. कम से कम हम ये तो कर ही सकते हैं." वैसे आप जानते ही होंगे चेतन भगत अपनी किताबों के साथ-साथ अपने बेबाक विचारों के लिए भी खूब जाने जाते हैं और वह हमेशा ही समसामयिक मुद्दों पर बेबाकी से अपने विचार पेश करते हैं.

अगर ज़िंदा होता यह एक्टर तो कभी फिल्मों में नहीं आ पाती करीना-करिश्मा कपूर

परिवार के खिलाफ जाकर कंगना ने खरीदा था 48 करोड़ का बंगला, कहा- 'सब मेरी जान के पीछे पड़ गए थे...'

लॉकडाउन में रिलीज हुआ सिंगर पलाश सेन का एक मिनट का नया सॉन्ग