मार्शल आर्ट के वो किंग जिसने अपने अभिनय से जीता था फैंस का दिल

हॉलीवुड की मार्शल आर्ट फिल्मो का किंग बोले तो हमारे जेहन में सिर्फ और सिर्फ एक ही नाम दिखाई देता है वह है हमारे 'मार्शल आर्ट’ किंग ब्रूस ली आज उनकी पुण्यतिथि है। जी हां बता दे कि, विश्व सिनेमा के पटल पर ब्रूस ली को एक ऐसी शख्सियत के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी फिल्मों के जरिए ‘मार्शल आर्ट’ को पूरी दुनिया में एक खास पहचान दिलाई। ब्रूस ली का मूल नाम ली मुयेन केम था तथा उनका जन्म 27 नवंबर 1940 को अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को शहर में हुआ था।

जब वह महज एक वर्ष के थे तभी उनका परिवार अमरीका से हांगकांग आ गया जहां ब्रूस ली ने बतौर बाल कलाकार के रूप में काम करना शुरू कर दिया। 18 वर्ष की उम्र तक ब्रूस ली ने बतौर बाल कलाकार लगभग 20 फिल्मों में अभिनय किया। इसके बाद बेहतर शिक्षा के उदेश्य से ब्रूस ली अमरीका चले गये और वाशिंगटन विश्वविद्यालय से दर्शनशास्त्र की पढ़ाई पूरी करने लगे। अपने बचपन में ब्रूस ली ने हांगकांग में भवगचुन नामक मार्शल आर्ट की शिक्षा भी ली थी। अमेरिका में रहते हुये उन्होंने मार्शल आर्ट की शिक्षा को जारी रखा। बाद में उसमें कुछ नये स्टाइल को जोडक़र ब्रूस ली ने मार्शल आर्ट का नया संस्करण बनाया जो ‘जीत कुने दो’ के नाम से प्रसिद्ध हुआ।

अमेरिका में रहते हुये अपने जीवन यापन के लिये ब्रूस ली अपने मार्शल आर्ट को लोगो के बीच पेश करने लगे जो दर्शको के बीच काफी लोकप्रिय हुआ। वर्ष 1964 में ब्रूस ली ने भलडा नामक युवती के साथ विवाह कर लिया। 60 के दशक के अंतिम वर्षो में ब्रूस ली के मार्शल आर्ट से प्रभावित होकर हांगकांग के स्टीव मैक्कवीन और जेम्स कार्बन जैसे अभिनेताओं ने उन्हें अपना प्रशिक्षक नियुक्त कर लिया। इस दौरान ब्रूस ली का रूझान फिल्म और छोटे पर्दे की ओर भी हो गया। इस दौरान उन्होंने कई टीवी धारावाहिक और फिल्मों में छोटे मोटे रोल किये। आज भी ब्रूस ली अपने चाहने वालो की यादो में मौजूद है। उनकी पुण्यतिथि पर हम भी हमारी और से उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते है।  

42 की उम्र में भी क़यामत ढा रही श्वेता तिवारी

सिल्वर क्रॉप टॉप और पैंट में किम ने दिखाया अपना बोल्ड फिगर

लियाम हेम्सवर्थ को रसेल क्रो ने दिया ऐसा तोहफा, उड़ गए एक्टर के होश

न्यूज ट्रैक वीडियो

Most Popular

- Sponsored Advert -