कराची की होटल के बाहर बम ब्लास्ट तो खिलाड़ियों का रो रो कर हुआ था बुरा हाल

साल 2002 में न्यूजीलैंड की टीम पाकिस्तान के दौरे पर गई थी. दोनों देशों के बीच वनडे सीरीज खेली जा चुकी थी. यहां तक कि दो मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला भी खेला जा चुका था, जिसमें पाकिस्तान ने पारी और 324 रन से जीत दर्ज की थी. इस मैच में पाकिस्तान के दिग्गज बल्लेबाज इंजमाम उल हक ने तिहरा शतक जड़ा था, लेकिन सीरीज का दूसरा टेस्ट शुरू नहीं हो सका था, जिसके पीछे बड़ी खौफनाक कहानी है. दरअसल, पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने खुद 2002 की 8 मई का जिक्र किया है, जब पाकिस्तान और न्यूजीलैंड की टीम कराची के एक होटल में ठहरी हुई थी और कुछ ही देर में मैच के लिए स्टेडियम जाने वाली थी, लेकिन इसी बीच ऐसा कुछ हुआ कि सभी दंग रह गए और कीवी खिलाड़ी रोते-बिलखते नजर आए. इंजमाम ने 8 मई 2002 को कराची के होटल के बाहर हुए बम धमाकों को याद किया है और उस खौफनाक मंजर की कहानी बयां की है.

इंजमाम उल हक ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा है कि गनीमत है कि उस खतरनाक दिन किसी खिलाड़ी को कोई चोट नहीं पहुंची, जिसमें 14 लोगों की जान गई थी. होटल के बारे में और ब्लास्ट के बारे में इंजमाम ने कहा, "मेरा रूम उसी तरफ था, जिस तरफ धमाका हुआ था. शुक्र है कि मैं रूम में नहीं था, जिसके कांच और खिड़कियां टूटकर दूसरे तरफ की दीवार पर लगे थे." ये धमाका एक कार में हुआ था, जो Sheraton hotel के सामने खड़ी थी.

इस सीरीज को रद कर दिया गया था और उसी दिन कीवी टीम अपने घर चली गई थी. इंजमाम ने कहा है, "हम खेलने के लिए जाने ही वाले थे कि ये घटना घट गई. ज्यादातर खिलाड़ी नाश्ता करने के लिए चले गए थे. मैं भी तैयार होकर जा रहा था कि मैंने कुछ सुना, लेकिन समझ नहीं सका कि क्या हुआ है. सभी पर्दे और खिड़कियां टूट गई थीं. मैंने गार्ड से पूछा कि क्या हुआ तो उसने कहा कि बम ब्लास्ट हुआ है. मैं जल्दी से बेसमेंट में गया तो देखा कि स्विमिंग पूल में न्यूजीलैंड के खिलाड़ी हैं और वे सभी रो रहे हैं. इन खिलाड़ियों ने कभी भी ऐसा मंजर नहीं देखा था."

जानिए कौन है बेन स्टोक्स की पत्नी और किस तरह हुई थी इनकी शादी

कुछ इस तरह शुरू हुई थी एलिसा हीली और उनके पति की प्रेम गाथा

लॉकडाउन के दौरान पंजाब पुलिस ने कबड्डी प्लेयर पर चला दी गोली, मौत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -