मूवी रिव्यु : 'वेलकम बैक'

मूवी रिव्यु : 'वेलकम बैक'

2007 में आई फिल्म निर्देशक अनीस बज्मी की जबरदस्त फिल्म 'वेलकम' को लोगो ने काफी सराहा था व पसंद किया था. तथा इसी गुदगुदाती कड़ी में बज्मी ने एक और हास्य व मनोरंजन से भरपूर फिल्म ''वेलकम बैक'' को प्रदर्शित किया है. तथा इसमें भी अनीस बज्मी ने दर्शको के लिए कॉमेडी का तड़का डाला है. इस फिल्म में जॉन अब्राहम, नाना पाटेकर, अनिल कपूर, परेश रावल, शाइनी आहूजा और श्रुति हसन जैसे महत्वपूर्ण कलाकारों की टीम है. आपको बता दे की फिल्म की कहानी कुछ इस तरह है। 'वेलकम बैक' की शुरुआत वहीं से की है जहां पिछली फिल्म ख़त्म हुई थी। गैंग्स्टर से शरीफ आदमी बन चुके उदय शेट्टी (नाना पाटेकर) और उसके भाई यानी मजनू भाई (अनिल कपूर) ने दुबई में अपना नया बिजनेस शुरु किया है। इन दोनों कुवारों की ज़िंदगी में एक राजकुमारी यानी अंकिता श्रीवास्तव की एंट्री होती है और दोनो उसके प्यार में पड़ जाते है।

अभी उनके शादी की बात चल ही रही थी कि तभी उदय को अपनी कुवांरी सौतेली बहन रंजना (श्रुति हासन) का पता चलता है। साथ ही फिल्म में एंट्री होती है अज्जु भाई (जॉन अब्राहम) की। अब एक तरफ अज्जु भाई और रंझना की लव स्टोरी है तो वहीं दूसरी तरफ उदय और मजनू, महारानी (डिंपल कपाड़िया) की बेटी चांदनी (अंकिता श्रीवास्तव) के प्यार में पागल होने लगते हैं। शेट्टी के किरदार में नाना पाटेकर जमे हैं। अनिल कपूर के साथ उनकी केमिस्ट्री पिछली फिल्म से कहीं ज्यादा दमदार बनी है। जॉन ने अपने किरदार में जान डाली है। वहीं, परेश रावल ने वही किया जो पिछली फिल्म में किया। नसीरुद्दीन शाह के लिए इस फिल्म में ज्यादा कुछ नहीं है। डिंपल ठीक-ठाक रही हैं। श्रुति ने किरदार निभा दिया है।

फिल्म के निर्देशक ने फिल्म में कहानी को मजबूत ढंग से बांधे रखा है. फिल्म की स्पीड दमदार है, संवाद मजेदार और सटीक हैं। वहीं अनीस ने इस बारा नाना, अनिल के किरदार को पहले से ज्यादा पावरफुल बनाया, जो इस फिल्म की यूएसपी है। दुबई की लोकेशंस और महंगे सेट को भी अनीस ने अपनी कहानी का हिस्सा बनाया है। तथा यह फिल्म आपका जबरदस्त रूप से मनोरंजन करती नजर आएगी.