'UPA कार्यकाल में सुशेन गुप्ता को दी गई थी रिश्वत..', क्या राफेल घूसकांड में खुद फंस गई कांग्रेस ?

नई दिल्ली: राफेल फाइटर जेट के करार में रिश्वत दिए जाने की रिपोर्ट सामने आने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा है कि यह मामला 2007 और 2012 के बीच का है, जब कांग्रेस केंद्र में थी. भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने मंगलवार को प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि जिस सुशेन गुप्ता नामक बिचौलिए का नाम उजागर हुआ है, वो कोई नया खिलाड़ी नहीं है. उन्होंने कहा कि सुशेन गुप्ता का नाम VVIP अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले में भी कमीशन एजेंट के रूप में भी सामने आया था.

संबित पात्रा ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि, 'राहुल गांधी भारत में नहीं हैं. फिर भी वो इटली से जवाब दें कि इतने वर्षों तक कांग्रेस ने भ्रम फैलाने का काम किया है, आज यह खुलासा हुआ है उन्हीं की सरकार के कालखंड में यह रिश्वतखोरी हुई. ये बेहद दुखद है कि भारतीय वायुसेना को फाइटर एयरक्राफ्ट की दरकार थी और 10 वर्षों तक इस विषय को लंबित रखा गया, समझौता कर रहे थे. और अब हम जान रहे हैं कि इतने वर्षों तक वे एयरक्राफ्ट को लेकर समझौते नहीं कर रहे थे, बल्कि वे रिश्वत को लेकर समझौते कर रहे थे.”

पात्रा ने आगे कहा कि कांग्रेस के काल में हमने फाइटर जेट खरीद के समझौते को पूरा होते तो देखा नहीं, किन्तु अब कमीशन लिए जाने का समझौता देख रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि, 'उल्टा चोर कोतवाल को डांटे. आज ये कहने में अतिश्योक्ति नहीं होगी कि INC का फुल फॉर्म है ‘आई नीड कमीशन’. बिना कमीशन के ये कोई काम नहीं करते. जब से कांग्रेस से है, तब से घोटाला हो रहा है. UPA के काल में प्रत्येक डील के अंदर एक डील थी.'

पूर्व CM हरीश रावत का बड़ा ऐलान, बोले- सत्ता में आने पर ढाई से 3 वर्षों में...

उत्तराखंड के स्थापना दिवस पर सीएम ने किए ये बड़े ऐलान

अब श्रमिकों को भी प्रशिक्षित करेगी दिल्ली सरकार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -