बैरिकेड तोड़कर यमुना घाट पर पहुंचे भाजपा सांसद, बोले- लोग यहाँ आकर छठ मनाएं, हम देंगे सुरक्षा

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में छठ पूजा को लेकर यमुना घाटों पर बैन है. छठ मनाने के लिए कालिंदी कुंज घाट पर पहुंचे लोगों को दिल्ली पुलिस ने वापस लौटा दिया, जिसके बाद सियासत शुरू हो गई है. भाजपा सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा छठ पूजा करने के लिए अपने समर्थकों के साथ घाट पर पहुंच गए.

बता दें कि DDMA ने छठ पूजा घाटों पर मनाने पर पाबन्दी लगा रखी है. जिस पर भाजपा ने यमुना घाट पर छठ मनाने की घोषणा की थी. वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाते हुए कहा था कि बीजेपी ने छठ पूजा के लिए घाट बनने से रोका था. भाजपा की तरफ से मनोज तिवारी ने दिल्ली सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि यदि उन्हें प्रतिबंध ही लगाना था तो यमुना में जहरीले झाग पर लगाना चाहिए था. मनोज तिवारी और दिल्ली भाजपा इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने भी सोनिया विहार में छठ पूजा मनाने की घोषणा कर दी है.

कोरोना महामारी के मद्देनज़र DDMA ने फैसला किया था कि यमुना घाटों पर छठ पूजा के लिए पाबन्दी लगाई जाए. दिल्ली में सोनिया विहार के यमुना घाट पर बैरिकेडिंग कर दी गई थी, ताकि छठ पूजा करने के लिए लोग वहां न जा सकें. मगर भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा इसे तोड़कर ITO यमुना घाट पर पहुंच गए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, 'केजरीवाल सरकार लोगों को छठ मनाने से रोक रही है. मैं सभी माताओं-बहनों से कहना चाहता हूं कि वह यहां आकर छठ पूजन करें. हम उनकी सुरक्षा करेंगे.'

बिरसा मुंडा के जन्मदिन पर जनजातीय गौरव दिवस मनाएगी सरकार, मोदी कैबिनेट का फैसला

दल-बदल करने वाले नेताओं को टिकट देने पर की गई ये बड़ी घोषणा

AAP से इस्तीफा देकर कांग्रेस में शामिल हुईं विधायक रुपिंदर कौर, केजरीवाल को लगा बड़ा झटका

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -