बिहार में अपराधियों के हौसले बुलंद, चलती ट्रेन में बदमाशों ने की अंधाधुंध फायरिंग

पटना: बिहार में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं. राज्य में अब बदमाश चलती ट्रेन में भी आपराधिक वारदातों को अंजाम देने से नहीं हिचक रहे हैं. ताजा मामला पटना के खुसरूपुर स्टेशन (Khushrupur Station) से सामने आया है, जहां अपराधियों ने झाझा पटना मेमू ट्रेन में एक अधेड़ का क़त्ल करने के उद्देश्य से उसे लक्षित कर उस पर अंधाधुंध फायरिंग (Firing In Running Train) कर दी, जिससे पूरे ट्रेन में अफरा-तफरी मच गई.

इस गोलीबारी में अधेड़ को दो गोली लगी है, वहीं, फायरिंग में बाजू की सीट पर बैठी दो महिलाओं को भी गोली लग गई, जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गईं. आनन-फानन में गंभीर रूप से घायलों को उपचार के लिए खुसरूपुर PHC में एडमिट कराया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद सभी को बेहतर इलाज के लिए PMCH रेफर कर दिया गया है. वहीं, चलती ट्रेन में गोलीबारी की सूचना मिलने के बाद खुसरूपुर पुलिस और खुसरूपुर GRP पुलिस मौके पर पहुंच कर पूरे मामले की जांच में जुट गई है.  घायल अधेड़ की शिनाख्त सालिमपुर थानाक्षेत्र के समसपुर निवासी सुनील प्रसाद के रूप में हुई है, वहीं घायलों की पहचान राघोपुर के मोहनपुर की रहने वाली ललिता देवी और सालिमपुर थानाक्षेत्र के हिदायत पुर की रहने वाली दरपनीया देवी के रूप में हुई है.

बताया जा रहा है कि झाझा पटना मेमो ट्रेन जैसे ही मंझौली हॉल्ट से खुसरूपुर स्टेशन के लिए निकली, ट्रेन में 2-3 की संख्या में हमलावररों ने सुनील प्रसाद को टारगेट कर गोलियां चलाना शुरू कर दी, इस दौरान हमलावरों ने 10 से 12 राउंड गोलीबारी की, अचानक से हुए इस हमले में सुनील प्रसाद के पैर में दो गोली लग गई, जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गए. वहीं फायरिंग में सुनील प्रसाद की सीट के बगल में बैठी दो महिला भी इसकी घायल हो गई. ललिता देवी के पीठ में गोली लगी, वहीं दरपनिया देवी को गोली का छर्रा लग गया, जिससे वह जख्मी हो गई. घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी खुसरूपुर स्टेशन पर उतर कर मौके से भाग निकले.

मॉडल के साथ 3 दिन तक किया सामूहिक बलात्कार, सलीम गिरफ्तार, 2 अन्य दरिंदे फरार

कर्नाटक: बेटी को प्रताड़ित करने के आरोप में युवक की हत्या करने वाला व्यक्ति गिरफ्तार

यौन उत्पीड़न के आरोप में तमिलनाडु पुलिस का एक अधिकारी गिरफ्तार

Most Popular

- Sponsored Advert -