जानिए कौन हैं बसवराज बोम्मई ? जो येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद संभालेंगे कर्नाटक की कमान

बैंगलोर: कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार के दो वर्ष पूरे होने पर बीएस येदियुरप्पा के सीएम पद से इस्तीफे की घोषणा के बाद शुरू हुई हलचल अब शांत है। मंगलवार (जुलाई 27, 2021) शाम हुई विधायक दल की मीटिंग में सीएम पद के लिए बसवराज बोम्मई का नाम सर्वसम्मति से मंजूर कर लिया है। कहा जा रहा है कि मीटिंग में खुद बीएस येदियुरप्पा ने ही इस नाम का प्रस्ताव रखा और फिर अन्य नेताओं ने इस पर सहमति दी। इससे पहले बसवराज, येदियुरप्पा कैबिनेट में गृह मंत्री पद संभाल रहे थे। बुधवार यानी 28 जुलाई को वह 3 बजकर 20 मिनट पर सीएम पद की शपथ ग्रहण करेंगे।

बता दें कि बसवराज के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य में सीएम पद पर भी रह चुके हैं। वहीं बसवराज ने भी जनता दल के साथ सियासत की शुरुआत की थी। वर्ष 1998 और 2004 में वह धारवाड़ से दो बार विधान परिषद के लिए निर्वाचित हुए। किन्तु साल 2008 में वह भाजपा में शामिल हो गए और इसी साल उन्होंने हावेरी जिले के शिगगाँव से MLA पद पर जीत दर्ज की। 28 जनवरी 1960 को जन्मे बसवराज बोम्मई अभी कर्नाटक के गृह मंत्री हैं। उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन कर रखा है। प्रदेश में कई सिंचाई प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए उनकी प्रशंसा होती रही है। इसके अलावा वह येदियुरप्पा के करीबी माने जाते हैं।

बता दें कि कर्नाटक में दो वर्ष सरकार चलाने के बाद सीएम बीएस येदियुरप्पा ने एक कार्यक्रम में घोषणा की थी कि वह अपना सीएम का पद छोड़ रहे हैं। हालाँकि आज उन्होंने बोम्मई का नाम पास होने पर कहा कि, “हमने सर्वसम्मति से बसवराज एस बोम्मई को भाजपा विधायक दल का नेता चुना है। मैं पीएम मोदी को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देता हूँ। पीएम की अगुवाई में बोम्मई कड़ी मेहनत करेंगे।”

ऐलान से 20 दिन पहले ही रिजाइन कर चुके थे येदियुरप्पा, पीएम के पास पड़ा था लेटर

व्हाइट हाउस ने सभी संघीय कर्मचारियों के लिए कोविड -19 टीकाकरण अनिवार्य करने का किया एलान

प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार मुख्यमंत्री अमरिंदर से मिलने पहुंचे सिद्धू, बैठक जारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -