बंजर जमीन उगलेगी सोना! मालामाल होंगे किसान, जानिए कैसे?

पटनाः बिहार राज्य में उर्वरा खेत तो पहले से ही सोना उगल रहे थे अब राज्य की बंजर भूमि भी सोना उगलेगी। इसके पीछे एक सबसे बड़ा कारण है वह है पारंपरिक खेती की तकनीक के माध्यम से औषधीय पौधों की खेती पर कृषक जोर दे रहे हैं। अन्नदाताओं के द्वारा उपजाई जा रही औषधीय पौधों की बाजार में अच्छी मांग है ऐसे में इनको बेचकर अन्नदाता धनवान हो रहे हैं, किसान अब आहिस्ता-आहिस्ता इस खेती की ओर ही रुख रहे हैं।

दरअसल, इस कोरोना महामारी में अश्वगंधा एवं सतवार की बाजार में बहुत मांग बढ़ी है, इन औषधीय गुन वाले पौधों की खेती को बढ़ावा देकर कृषि यूनिवर्सिटी किसानों को समृद्ध करने की कोशिश में जुटी है। सारण जिले के नगरा प्रखंड में प्रयोगिक रूप में 2 एकड़ बंजर और गैर उपयोगी जमीन पर आरम्भ हुआ, औषधीय खेती अब भविष्य में अन्नदाताओं के आत्मनिर्भर बनाने में मिल का पत्थर सिद्ध होगा।  

वही रसूलपुर अरवा नागरा प्रखंड जिला सारण बिहार में scsp कार्यक्रम के तहत औषधीय खेती का भ्रमण पान तथा औषधीय सुगंधित अनुसंधान केंद्र इस्लामपुर से एक्सपर्ट्स डॉक्टर एस एन दास, चिकित्सक अजीत पांडेय व चिकित्सक प्रभात कुमार औषधीय खेती विकास संस्थान के बिहार झारखंड डॉक्टर एस एन दास ने बताया कि औषधीय खेती अन्नदाताओं के लिए वरदान सिद्ध हो रहा है। बंजर भूमि पर औषधीय खेती करना संभव है तथा 1 एकड़ भूमि पर 50 हजार से 5 लाख तक आराम से कमाई अन्नदाता कर सकते हैं। 

जिस तस्वीर का बंगाल पुलिस ने किया Fact Check, उसे इस्तेमाल कर NBT और दैनिक जागरण ने फैलाया झूठ

फिर से हुई बनारस हाईवे को उड़ाने की कोशिश, 4 दिन के अंदर दूसरी बार मिला बम

ICMR ने ओडिशा में प्राइवेट कंपनी द्वारा विकसित COVID-19 रैपिड एंटीजन टेस्ट किट को मंजूरी दी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -