मेघालय में हिंसा-तनाव बरकरार, असम के कई वाहनों में लगाई आग-होटलों में फंसे यात्री
मेघालय में हिंसा-तनाव बरकरार, असम के कई वाहनों में लगाई आग-होटलों में फंसे यात्री
Share:

गुवाहाटी: असम और मेघालय के बीच विवादित सीमा को लेकर हुई हिंसा के बाद इलाके में तनाव जारी है। जी दरअसल असम के वाहनों पर खासी लोगों के हमले की बात भी सामने आ रही है। इस मामले में यह बताया गया है कि मेघालय में असम में कई वाहनों पर हमले किए गए हैं। केवल यही नहीं बल्कि इसके साथ ही यात्रियों और असम के लोगों पर पथराव किया गया है। जी दरअसल असम के लोगों के साथ खराब व्यवहार किया जा रहा है और लोगों ने उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी है। जी दरअसल असम से कई लोग ऐसे हैं, जो अपनी जान जोखिम में डालकर मेघालय छोड़ दिया है, हालाँकि अब भी असम के कई लोग शिलांग के होटलों में फंसे हुए हैं। इसी के साथ ही अब तक हिंसा में मारे गए असम के वनकर्मी का शव मेघालय ने नहीं लौटाया है। इलाके में तनाव लगातार बना हुआ है।

'मेरी शादी नहीं कराई गई तो मैं मानसिक रूप से पागल हो जाऊँगा', प्रार्थना पत्र लेकर थाने पहुंचा युवक

आपको बता दें कि असम सरकार ने बीते मंगलवार को कहा कि वह पश्चिम कार्बी आंगलोंग जिले में मेघालय के साथ राज्य की विवादित सीमा पर हिंसा के मामले में जांच किसी केंद्रीय या तटस्थ एजेंसी को सौंपेगी। हिंसा में छह लोगों की मौत हो गई थी। मिली जानकारी के तहत असम सरकार ने घटना में कथित रूप से शामिल पुलिस और वन्य अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का भी आदेश दिया है जिसमें कार्बी आंगलोंग के पुलिस अधीक्षक का तबादला शामिल है। इसी के साथ असम सरकार ने छह मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा भी की है। आपको बता दें कि असम के वन कर्मियों ने मंगलवार तड़के करीब तीन बजे मुकरु इलाके में एक ट्रक को रोका था जो कथित रूप से अवैध तरीके से काटी गयीं लकड़ियां लेकर जा रहा था।

'एक जान की कीमत 5 रुपये', आखिर क्यों केंद्रीय मंत्री ने दिया ये बयान?

इसके बाद भड़की हिंसा में छह लोगों की मौत हो गयी जिनमें असम का एक वन कर्मी और मेघालय के पांच नागरिक शामिल थे। दूसरी तरफ मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा को टैग करते हुए एक ट्वीट में शिकायत की है कि असम पुलिस और वनकर्मी मेघालय में घुसे और बिना उकसावे के गोलीबारी करनी शुरू कर दी। संगमा की पार्टी बीजेपी की सहयोगी पार्टी है। संगमा ने कहा, पश्चिमी जैंतिया हिल्स जिले के मुकरोह गांव में मारे गये छह लोगों में से पांच लोग मेघालय के निवासी हैं, जबकि असम के एक वनकर्मी की मौत हुई है। इसके विपरीत असम पुलिस ने एक वन कर्मी समेत मृतकों की संख्या केवल चार बताई है।

30 कुत्तों को खिलाया जहर, 24 की हुई मौत

पिता-पुत्र पर चढ़ा तेज रफ़्तार ट्रैक्टर, हुई दर्दनाक मौत

'तेजस्वी यादव ऐसा नहीं कर सकते', 10 लाख सरकारी नौकरी के वादे पर बोले BJP नेता

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -