भगवान शिव के इस मंदिर में खुद अश्वत्थामा करते हैं पूजा

Jul 21 2018 11:49 AM
भगवान शिव के इस मंदिर में खुद अश्वत्थामा करते हैं पूजा

देवों के देव कहे जाने वाले भगवान शिव के समान कोई नहीं हैं. वह सबसे अद्भुत है यही वजह है कि भगवान शिव को देवताओं का देवता माना जाता है. सावन का महीना दस्तक देने को है और इसमें भगवान शिव की ख़ास तरीके से पूजा की जाती हैं. आज हम आपको बताने जा रहे हैं भगवान शिव के एक ऐसे मंदिर के बारे में जिसके चमत्कार के बारे में सुनकर आप हैरान हो जायेंगे.

वैसे तो भगवान शिव के कई चमत्कारी मंदिर हैं लेकिन इस मंदिर का रहस्य आपको हैरान कर देगा. हम बात कर रहे हैं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लगभग 150 किलोमीटर की दूरी पर कानपुर नगर के शिवराजपुर में मौजूद खेरेश्वरधाम मंदिर के बारे में जो शिवराजपुर में गंगा नदी से लगभग 2 किलोमीटर दूर स्थित है. इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यहां हर रोज अश्वत्थामा भगवान शिव की पूजा करने आते हैं.

बेलपत्र के अलावा भी ये पत्ते हैं भगवान शिव को बेहद प्रिय

हो सकता है इस बात पर आपको यकीन न हो लेकिन जब मंदिर के पुजारी से इस बात को जानने की कोशिश की, तो उन्होंने बताया कि कुछ लोगों ने इस सत्य से पर्दा हटाने का प्रयास किया और वह मंदिर में देर रात रुक गए लेकिन इस दौरान उनकी आँखों की रौशनी चली गई. इस घटना के बाद किसी ने कभी इस प्रकार की हिम्मत करने की कोशिश नहीं की.

'ॐ नम: शिवाय' का गहरा रहस्य

बताया जाता है कि मंदिर में रोजाना द्रोणाचार्य के पुत्र अश्वत्थामा पूजा करने के लिए आते हैं. इस रहस्य का अंदाज़ा इस बात से लगाया कि हर रोज सुबह मंदिर में भोलेनाथ के मुख्य शिवलिंग की पूजा-अर्चना पहले ही हो चुकी होती है और ताजे फूलों के साथ शिवलिंग का अभिषेक भी हो चुका होता है. ऐसा कहा जाता है कि यह जो भी भक्त आता है वो कभी भी खाली हाथ नहीं जाता है.

 

ये भी पढ़े

सावन के महीने में भगवान शिव के साथ इनकी भी करें आराधना, जल्द पूरी होगी मुराद

इस वृक्ष में होता है भगवान शिव का वास

भगवान शिव के इन मंत्रो से जल्द पूरी होगी मुराद

 

?