रमजान को राजनीति में ना घसीटें, रोज़े में सारे काम करता है मुसलमान - ओवैसी

रमजान को राजनीति में ना घसीटें, रोज़े में सारे काम करता है मुसलमान  - ओवैसी

हैदराबाद : रमजान के दौरान प्रस्‍तावित लोकसभा चुनावों को लेकर चल रही सियासी बयानबाजी पर एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने राजनीतिक दलों पर हमला बोला है. उन्‍होंने कहा है कि इस पूरे विवाद की कोई आवश्यकता ही नहीं है. मैं राजनीतिक दलों से अपील करता हूं कि वे किसी भी वजह से खुद के लाभ के लिए मुस्लिम समुदाय और रमजान का प्रयोग ना करें. उन्‍होंने कहा है कि रमजान के दौरान मुस्लिमों की वोटिंग में कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे राहुल गांधी

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन (एआईएमआईएम) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि मुस्लिम रमजान के महीने में रोजा जरूर रखेंगे. मुसलमान इस दौरान सामान्‍य जीवन जीते हैं. वे दफ्तर भी जाते हैं. यहां तक कि गरीब से गरीब मुस्लिम भी रोजा रखता है. उन्‍होंने कहा है कि, 'मेरा आकलन है कि रमजान के महीने में ज्यादा मत प्रतिशत सामने आएगा.'

अपनी हार देखकर बौखला गए हैं बुआ-बबुआ, इसलिए कर रहे उलजुलूल बयानबाज़ी - श्रीकांत शर्मा

आपको बता दें कि 11 अप्रैल से आरंभ होने वाले लोकसभा चुनाव के कार्यक्रम के दौरान रमजान भी पड़ेगा. चुनाव आयोग की तरफ से रविवार को घोषित किए गए आम चुनाव के कार्यक्रम पर तृणमूल कांग्रेस के नेता और कोलकाता के महापौर फिरहाद हकीम ने सवाल खड़े किए हैं. उन्‍होंने चुनावों को लेकर भाजपा पर भी हमला बोला है. उन्‍होंने कहा कि भाजपा नहीं चाहती कि अल्‍पसंख्‍यक वोट डालें. इसलिए रमजान के दौरान रोजे का ख्याल नहीं रखा गया है, किन्तु हम चिंतित नहीं हैं हम वोट जरूर डालेंगे.

खबरें और भी:-

 

जो मेरिट में आता है अधिकारी बनता है, जबकि फेल होने वाला मंत्री बन जाता है : गडकरी

कांग्रेस में शामिल होंगे हार्दिक पटेल, लेकिन चुनाव लड़ने में कानूनी अड़चन

लोकसभा चुनाव: यूपी का चुनावी घमासान, जानिए कब होगा आपके शहर में मतदान